'मुकेश अंबानी का घर वक्फ बोर्ड की संपत्ति है, तुड़वा देते..', केजरीवाल का Video वायरल

नई दिल्ली: आम आदमी पार्टी (AAP) के राष्ट्रीय संयोजक और दिल्ली सीएम अरविंद केजरीवाल (Arvind Kejriwal on Waqf Board) का एक वीडियो सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रहा है। इस वीडियो में अरविंद केजरीवाल, देश के सबसे बड़े उद्योगपतियों में शामिल मुकेश अंबानी के घर को वक्फ बोर्ड की जमीन पर बना हुआ बताते हुए कह रहे हैं कि यदि महाराष्ट्र में उनकी सरकार होती तो उनका (अंबानी का)  घर को तोड़ दिया गया होता।

 

मुस्लिमों की एक सभा को संबोधित करते हुए सीएम केजरीवाल इस वीडियो में कह रहे हैं कि, 'कभी भी जरूरत पड़े आपको… तन, मन, धन से केजरीवाल और दिल्ली सरकार पूरी तरह से वक्फ बोर्ड के साथ है। बंबई के अंदर इस देश का जो सबसे अमीर आदमी है, बताते हैं उसका घर वक्फ बोर्ड (Arvind Kejriwal on Waqf Board) की प्रॉपर्टी पर बना हुआ है।' यही नहीं, इसके बाद केजरीवाल वहाँ मौजूद से लोगों से पूछते हैं, 'मैं गलत तो नहीं कह रहा?' दिल्ली सीएम आगे कहते हैं कि, 'वहाँ की सरकार में हिम्मत नहीं है, जो उसको कुछ कर दे। यदि हमारी सरकार होती, तो उसकी (अंबानी की) प्रॉपर्टी तुड़वा देती। वक्फ बोर्ड को जब भी किसी चीज की जरूरत होगी। दिल्ली सरकार वक्फ बोर्ड के साथ है।'

कांग्रेस अध्यक्ष चुनाव: अशोक गहलोत ने बदले सुर, मल्लिकार्जुन खड़गे से मांगी माफी

बता दें कि केजरीवाल (Arvind Kejriwal on Waqf Board) का जो वीडियो अभी सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है, वो दरअसल 2019 का है। इस वीडियो में वक्फ बोर्ड की जमीन और मुकेश अंबानी के एंटिलिया को तुड़वा देने वाली तानाशाही मानसिकता वाली बातें आप भी सुन सकते हैं। दरअसल, यह वीडियो तीन साल बाद इसलिए वायरल हो रहा है, क्योंकि इन दिनों वक्फ बोर्ड फिर सुर्ख़ियों में है। कांग्रेस राज में बनाए गए वक्फ अधिनियम ने इस बोर्ड को इतनी शक्तियां दे दी हैं कि ये भारत की जिस जमीन पर हाथ रख दे, वो जमीन उसकी हो जाए। इसका तजा मामला तमिल नाडु से सामने आया है, जहां हिन्दू किसानों का एक पूरा गाँव और वहां के हिंदू मंदिर तक को वक्फ बोर्ड ने अपनी संपत्ति घोषित कर डाला है। ऐसे में केजरीवाल (Arvind Kejriwal on Waqf Board) का यह बयान कि वो तन मन धन से वक्फ के साथ है, ये दर्शा रहा है कि आम आदमी पार्टी (AAP) भी वक़्फ़ बोर्ड के इस तरह जमीनें हड़पने पर कोई कार्रवाई करना तो दूर, उलटा मदद ही करेगी। बता दें कि, वक्फ बोर्ड देश का तीसरा सबसे बड़ा जमीन मालिक है, फिलहाल वक्फ बोर्ड के पास देश की 8 लाख एकड़ जमीन है और ये लगातार बढ़ती जा रही है।   

वहीं, बात यदि मुकेश अंबानी के घर की करें तो बॉम्बे उच्च न्यायालय ने 2017 में उनके निवास स्थान ‘एंटीलिया’ को लेकर वक्फ बोर्ड को नोटिस भेजा था। हाई कोर्ट ने वक्फ बोर्ड को अंबानी के घर पर अपना रुख स्पष्ट करने के लिए  कहा था। बता दें कि, यह नोटिस संपत्ति को गैर कानूनी तरीके से बेचने को लेकर दाखिल की गई एक याचिका के बाद जारी किया गया था। वर्ष 2005 में यह संपत्ति अंबानी के स्वामित्व वाली कंपनी मफिन-एंटीलिया कमर्शियल प्राइवेट लिमिटेड द्वारा खरीदी गई थी। यह भूमि पहले करीमभॉय इब्राहिम खोजा अनाथालय ट्रस्ट की थी, जिसमें अनाथ मुस्लिम बच्चों की सहायता की जाती थी। इस मामले में इस याचिका के अलावा कई केस फाइल किए गए थे, जिस पर बॉम्बे उच्च न्यायालय में सुनवाई हुई।

गांधी परिवार को उलझाने चले थे अशोक गहलोत, खुद ही उलझ गए.., क्या कांग्रेस लेगी एक्शन ?

जालना के रहने वाले अब्दुल मतीन (Abdul Mateen) ने अखबारों में संपत्ति की बिक्री के बारे में पढ़ा था और 2007 में एक याचिका दाखिल की थी। उनकी याचिका को उसी मुद्दे पर 66 अन्य याचिकाओं के साथ टैग किया गया था, जिस पर उस वक़्त बॉम्बे उच्च न्यायालय में सुनवाई हुई। फिलहाल, यह मामला सुप्रीम कोर्ट में लंबित है । 

'ईडी-इनकम टैक्स विभाग से डरने की जरूरत नहीं', CM बघेल ने केंद्र पर बोला हमला

ड्राइवर की गलती से गई बच्चों की जान, कुछ की हालत गंभीर

LG पर बेबुनियाद आरोप लगाकर बुरी फंसी AAP, कोर्ट ने लगाई फटकार, दिया ये आदेश

 

न्यूज ट्रैक वीडियो

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -