अंतर्राष्ट्रीय शांति दिवस: हम एक-दूसरे के शत्रु नहीं हैं..., जानिए इस दिवस का उद्देश्य और इतिहास

पूरी दुनिया के लोगों में परस्पर प्रेम की भावना और मानवता को संजोए रखने के लिए प्रति वर्ष 21 सितंबर के दिन अंतर्राष्ट्रीय शांति दिवस मनाया जाता है. इस दिन पूरी दुनिया के लोगों में जागरुकता फैलायी जाती है कि हम एक दूसरे के शत्रु नहीं हैं. इस दिवस को मनाए जाने का मुख्य उद्देश्य दुनियाभर के मुल्कों के बीच शांति को बढ़ावा देने और आपसी विवाद को ख़त्म करने के लिए किया जाता है.

संयुक्त राष्ट्र (UN) ने दुनियाभर के कई देशों के बीच शांति व्यवस्था कायम रखने, अंतर्राष्ट्रीय युद्धों को खत्म करने और देशों के बीच भाईचारे को बढ़ावा देने के लिए इस दिवस की शुरुआत की गई थी. संयुक्त राष्ट्र महासभा (UNGA) ने पहली बार 1981 में इसे मनाए जाने का ऐलान किया था. जिसके बाद प्रति वर्ष इसे मनाया जाना जारी रखा गया. आज के दिन अंतर्राष्ट्रीय शांति दिवस के अवसर पर संयुक्त राष्ट्र संगठन से लेकर कई अन्य संगठन कई तरह के कार्यक्रमों का आयोजन करते हैं.

पूरी दुनिया में अंतर्राष्ट्रीय शांति दिवस को मनाए जाने की शुरुआत यूनाइटेड नेशंस ने 1981 में की थी. जिसके बाद पहली बार इसे साल 1982 के सितंबर महीने के तीसरे मंगलवार को मनाया गया था. जिसके बाद 1982 से लेकर वर्ष 2001 तक अंतर्राष्ट्रीय शांति दिवस को सितंबर महीने के तीसरे मंगलवार को मनाया गया. वहीं संयुक्त राष्ट्र ने वर्ष 2002 से इसे 21 सितंबर को मनाए जाने का ऐलान किया था. जिसके बाद से लेकर अभी तक प्रति वर्ष 21 सितंबर के दिन अंतर्राष्ट्रीय शांति दिवस मनाया जा रहा है.

विश्व अल्जाइमर दिवस: चीज़ें रखकर भूल जाने की बीमारी कहीं आपको भी तो नहीं...

पाकिस्तान में कपास उठाने का काम कर रहा था परिवार, मुस्लिम कमेटी के लोग ने किया अगवा

पर्म स्टेट यूनिवर्सिटी में गोलीबारी से मचा हाहाकार, 8 की मौत अन्य हुए घायल

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -