एयर इंडिया पर कोरोना की मार, 180 केबिन क्रु को नौकरी से निकाला

एयर इंडिया पर कोरोना की मार, 180 केबिन क्रु को नौकरी से निकाला

नई दिल्ली: देश में कोरोना वायरस से संक्रमित मरीजों की तादाद में लगातार वृद्धि हो रही है। कोरोना के कारण विमानन क्षेत्र भी बुरी तरह प्रभावित है। इस क्षेत्र में काम करने वाले हजारों लोगों की नौकरियां चली गई हैं और हजारों लोगों की नौकरी पर खतरा मंडरा रहा है। विमानन कंपिनियों में अभी भी छंटनी चल रही है। 

एयर इंडिया ने 180 ट्रेनी केबिन क्रु को काम पर रखने से इंकार कर दिया है। ट्रेनिंग कोर्स पूरा होने के बाद एयर इंडिया की ओर से इन्हें नौकरी दी जाने वाली थी। ताजा जानकारी के अनुसार, एयर इंडिया ने उन 50 पायलट के आग्रह को भी खारिज कर दिया है, जो अभी नोटिस पीरियड पर हैं। एयर इंडिया ने बीते तीन दिनों 50 पायलटों को रिजाइन देने के लिए कहा था। एयर इंडिया काफी समय से केबिन क्रु की किल्लत से जूझ रही है। जिसके चलते एयरलाइन ने नवंबर 2019 में 174 ट्रेनी केबिन क्रू को सशर्त नौकरी पर रखा था। 

ट्रेनिंग ख़त्म होते ही यह काम पर रख लिए जाते, किन्तु कंपनी ने अब उन्हें रखने से इंकार कर दिया है। अमीरात एयरलाइन 9,000 कर्मचारियों को नौकरी से बाहर कर सकती है। शनिवार को एक रिपोर्ट में अमीरात एयरलाइन के चीफ ने यह बात कही। कोरोना संकट से पहले अमीरात में लगभग 60,000 कर्मचारी कार्यरत थे, जिसमें 4,300 पायलट और 22,000 केबिन क्रु शामिल हैं।

कोरोना के खिलाफ भारत की जंग को अमित शाह ने बताया कामयाब, की पीएम मोदी की तारीफ

राजस्थान में सियासी उठापठक तेज़, सीएम गहलोत ने सभी विधायकों को बुलाया जयपुर

सोशल मीडिया पर वायरल हुई इस एक्ट्रेस की तस्वीरें