आखिर क्यों सड़कों पर भीख मांगने के लिए मजबूर हुआ ये रिटायर बैंक मैनेजर ?

एटा: यूपी के एटा जिले में भिखारी के रूप में घूम रहे एक बुजुर्ग की पहचान गुजरात के रिटायर बैंक मैनेजर के तौर पर की जा चुकी है। दरअसल वे अपना मानसिक संतुलन पूरी तरह से खो चुके है। जहां पर लोग रोडवेज बस स्टैंड के पास इनको घूमते हुए हमेशा ही दिखाई देते थे। इस बीच पुलिस ने उन्हें कोतवाली नगर में रखा हुआ है। इसके साथ ही उनके गृह जिले नवसारी में परिजनों को फोन कर सूचना दी गई है। स्थानीय लोगों का इस बारें में कहना ही कि, बीते कई दिन से एक व्यक्ति रोडवेज बस स्टैंड के आसपास भीख मांगकर पेट भरता था। जहां रविवार को सोशल मीडिया पर वीडियो वायरल होने पर लोगों को उनकी हकीकत के बारें में जानकारी मिली। इस बीच गुजरात के लोगों ने उन्हें पहचान लिया। जिसके उपरांत लोकल पुलिस को सूचना दी गई।

पुलिस द्वारा की गई पूछताछ में बुजुर्ग ने दी परिजनों के बारे में जानकारी: इस बात की जानकारी हाथ आते ही मौके पर पहुंची पुलिस बुजुर्ग को पूछताछ के लिए थाने लेकर आ चुकी है। जहां पर पुलिस द्वारा की गई पूछताछ में बुजुर्ग ने अपने घर का पता और परिजन की फोन नंबर बताए। इस पर पुलिस ने फोन कर घटना की सम्पूर्ण जानकारी दी। इस केस में थाना प्रभारी का कहना है कि एक बुजुर्ग व्यक्ति के बारे में जानकारी प्राप्त हुई, जोकि बस स्टैंड पहुंचकर उन्हें थाने लाए। हालांकि, उनकी मानसिक स्थिति ठीक नहीं है। थाना प्रभारी ने कहा है कि बातचीत करने के दौरान पता लगा कि वह बैंक मैनेजर पद से रिटायर हैं।

थाने में दर्ज है गुमशुदगी रिपोर्ट: खबरों की माने तो गुजरात के रहने वाले रिटायर बैंक मैनेजर ने अपना पता गुजरात के नवसारी जिले में थाना इलाके के गांव चिखली कहा है। पुलिस द्वारा ली गई सूचना  में परिजनों ने कहा कि वे लापता हो चुके थे, जिसमें परिजनों ने बीते 2 अप्रैल 2022 को उनकी गुमशुदगी की रिपोर्ट नजदीकी थाने में दर्ज कराई थी। हालांकि, वह गुजरात से एटा कैस पहुंचे, यह अभी पता नहीं चल सका है। वहीं, बुजुर्ग के भाई ने उनका नाम दिनेश कुमार और फिर दीनू भाई पटेल कहा है। उनकी सलामती की जानकारी लगते ही परिजन गुजरात से एटा के लिए रवाना हो चुके हैं।

कन्हैयालाल हत्याकांड में तीन और गिरफ्तार, रियाज़ के इशारे पर करते थे काम

करीना ने 4 हाथ और 4 पैर वाले बच्चे को दिया जन्म, लोगों ने 'अवतार' से कर डाली तुलना

असम बाढ़: जिस बाँध के टूटने से 2 लाख लोग हुए बेघर, वो टूटा नहीं, बल्कि तोड़ा गया था...

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -