G20 के मेन्यू में दिखेगी भारतीयता की झलक, जानिए क्या होगा ख़ास

G20 के मेन्यू में दिखेगी भारतीयता की झलक, जानिए क्या होगा ख़ास
Share:

नई दिल्ली: अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन और ब्रिटेन के प्रधान मंत्री ऋषि सुनक सहित कई विश्व नेता, जो दिल्ली के भारत मंडपम में जी20 शिखर सम्मेलन के लिए एकत्र हुए हैं, को बाजरा से तैयार किए गए स्वादिष्ट भारतीय व्यंजन परोसे जाएंगे। बता दें कि, भारत ने अंतर्राष्ट्रीय बाजरा वर्ष (IYM) 2023 के प्रस्ताव को प्रायोजित किया है, जिसे संयुक्त राष्ट्र महासभा ने स्वीकार कर लिया है। इस अत्यधिक पौष्टिक और स्वास्थ्यप्रद फसल ने अपने सकारात्मक पर्यावरणीय प्रभाव के कारण भी काफी लोकप्रियता हासिल की है।

G20 भारत के विशेष सचिव मुक्तेश परदेशी ने कहा कि G20 नेताओं को बाजरा आधारित व्यंजन सहित भारतीय भोजन परोसने का कदम न केवल भारत की समृद्ध पाक विरासत को दर्शाता है, बल्कि शिखर सम्मेलन की एकता और साझा भविष्य के विषय के साथ भी मेल खाता है। शिखर सम्मेलन का विषय - वसुधैव कुटुंबकम (एक पृथ्वी, एक परिवार, एक भविष्य) है। परदेशी ने कहा कि, "इसके अलावा, 2023 बाजरा का वर्ष है और बाजरा आधारित व्यंजन भी परोसे जाएंगे।" प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी ने IYM 2023 को "जन आंदोलन" बनाने और भारत को "बाजरा के लिए वैश्विक केंद्र" बनाने की इच्छा व्यक्त की है।

मिठाइयों के बारे में बोलते हुए, परदेशी ने कहा कि वे भारत की पाक विविधता को प्रतिबिंबित करेंगे। उन्होंने कहा कि, ''सीज़न को ध्यान में रखते हुए, हम घेवर भी परोसते हुए देख सकते हैं।'' उन्होंने यह भी कहा कि सभी होटल जहां विश्व नेता और प्रतिनिधि ठहरेंगे, उन्हें नवीन बाजरा व्यंजन परोसे जाएंगे। रिपोर्ट के अनुसार, आदिवासी महिलाओं रायमती घिउरिया और सुभाषा महंत के प्रयासों की बदौलत विश्व नेताओं और प्रतिनिधियों को ओडिशा के स्वादिष्ट बाजरा व्यंजनों का स्वाद लेने का अवसर भी मिलेगा। ओडिशा के कोरापुट और मयूरभंज के आदिवासी जिलों की रहने वाली दोनों महिलाएं भारत मंडपम में बाजरा, टिकाऊ कृषि और स्वस्थ भोजन की आदतों पर बहुमूल्य अंतर्दृष्टि साझा करेंगी।

बता दें कि, बाजरा एशिया और अफ्रीका में आधे अरब से अधिक लोगों के लिए पारंपरिक भोजन माना जाता है और वर्तमान में भारत सहित 130 से अधिक देशों में उगाया जाता है। मुख्य शिखर सम्मेलन से पहले आयोजित विभिन्न जी20 कार्यक्रमों में, प्रतिनिधियों को क्रमशः दोपहर के भोजन और रात के खाने दोनों के लिए बाजरा व्यंजन परोसे गए। चाहे जून में गोवा में जी20 पर्यटन मंत्रियों की बैठक हो या अगस्त में वाराणसी में जी20 संस्कृति मंत्रियों की बैठक, नेताओं ने रागी लिट्टी और चोखा सहित बाजरा से बने विभिन्न व्यंजनों का स्वाद चखा है।

'G20 नेताओं ने दिल्ली घोषणापत्र को अपनाया..', पीएम मोदी ने किया ऐलान

देश को जल्द मिलेंगी 9 और वंदे भारत ट्रेन, कर्मचारियों को प्रशिक्षित करने पर रेलवे का जोर

G20 समिट का भव्य डिनर आज, जानिए राष्ट्रपति मुर्मू के निमंत्रण पर कौन आ रहा, कौन नहीं?

 

रिलेटेड टॉपिक्स
- Sponsored Advert -
मध्य प्रदेश जनसम्पर्क न्यूज़ फीड  

हिंदी न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_News.xml  

इंग्लिश न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_EngNews.xml

फोटो -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_Photo.xml

- Sponsored Advert -