नहीं रहें हॉकी प्लेयर मंसूर अहमद

पाकिस्तान: यहाँ पाकिस्तान को विश्व कप जीतने में अहम भूमिका निभाने वाले हाकी गोलकीपर मंसूर अहमद का लंबे समय तक दिल की बीमारी से जूझने के बाद यहां के एक अस्पताल में निधन हो गया.   पाकिस्तान के लिए 388 अंतरराष्ट्रीय मैच खेलने वाले इस महान खिलाड़ी को 1994 विश्व कप में शानदार प्रदर्शन के लिये याद किया जाएगा. बता दें 49 वर्षीय मंसूर 1994 में सिडनी में खेले गए हॉकी वर्ल्ड कप में पाकिस्तान की जीत में हीरो बनकर उभरे थे. 

गौरतलब है कि ओलंपिक में पाकिस्तान का प्रतिनिधित्व करने वाले 49 साल के अहमद पिछले काफी समय से दिल में लगे पेसमेकर और स्टेंट से परेशान थे. उन्होंने हृदय प्रत्यारोपण मदद के लिए भारत से भी संपर्क किया था. पाकिस्तान की वर्ल्ड कप विजेता हॉकी टीम के गोलकीपर मंसूर अहमद पिछले कई दिनों से दिल की बिमारी से जूझ रहे थे. उन्होंने भारत सरकार और विदेश मंत्री सुषमा स्वराज से वीजा देने की अपील की है ताकि वह यहां भारत आकर हार्ट ट्रांसप्लांट करा सके. 

बता दें कि गोलकीपर मंसूर अहमद ने फाइनल में नीदरलैंड के खिलाफ पेनाल्टी शूट में गोल का बचाव कर पाकिस्तान को विश्व विजेता बनाया था. इसके साथ ही इसी साल उन्होंने चैम्पियन्स ट्राफी के फाइनल में जर्मनी के खिलाफ पेनाल्टी शूटआउट का बचाव किया था जिससे पाकिस्तान इसका विजेता बना था.

मैड्रिड ओपन टेनिस टूर्नामेंट से राफेल नडाल हुए बाहर

नडाल ने तोड़ा 34 साल पुराना विश्व रिकॉर्ड

एशियन चैंपियंस ट्रॉफी में पहला मुकाबला जापान से

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -