फिल्म रिव्यु : ब्रोकन हाॅर्सेज

Apr 10 2015 03:34 AM
फिल्म रिव्यु : ब्रोकन हाॅर्सेज
बॉलीवुड की अब तक की सबसे ज्यादा कमाई करने वाली फिल्म pk के निर्माता विधु विनोद चोपड़ा ने कुछ अरसे पहले 'परिंदा' फिल्म बनाई थी जो कहानी थी दो भाइयों अनिल कपूर और जैकी श्राफ की और अब हॉलीवुड की तरफ पहला कदम बढ़ाते हुए विनोद चोपड़ा ने उसी 'परिंदा' फिल्म का अंग्रेजी रूपांतरण कर दिया है. यह कहानी है अमेरिका - मैक्सिको बॉर्डर के पास रहने वाले दो अनाथ भाईयों 'बडी' (क्रिस्टोफर) और 'जैकब' (एंटोन एलचीन) की जिनमें प्यार तो है लेकिन ड्रग वॉर की वजह से आपसी मतभेद हो जाते हैं. बडी लोकल माफिया जूलियस के साथ मिल जाता है और सिनेमा थिएटर के बहाने अवैध तरीके से बिजनेस करने लगता है. 

फिर गैंग वॉर शुरू हो जाती है बहुत सारा खून खराबा होता है. जैकब अपने भाई बडी को साथ लेजाकर न्यूयॉर्क शिफ्ट होना चाहता है और ये बात बडी के माफिया बॉस जूलियस को नागवारा होती है. फिर भाईयों के बीच में होने वाली लड़ाई का फायदा माफिया उठाना चाहता है और अाखि‍र में जीत सच की होती है. फिल्म की स्क्रिप्ट पर विधु विनोद चोपड़ा और अभिजात ने काम करने के साथ-साथ डायलॉग्स भी सरल रखे हैं जिसकी वजह से फिल्म देखते वक्त जटीलता नजर नहीं आती. फिल्म का प्लॉट तो फिल्म 'परिंदा' का है लेकिन ट्रीटमेंट नया करने की कोशिश की गई है और यही कारण है की हॉलीवुड के स्टार्स होने पर भी यह फिल्म उतना आकर्षित नहीं करती. 

हॉलीवुड फिल्म में जब बॉलीवुड का तड़का लगता है तो हमारी उम्मीद दुगुनी हो जाती है, लेकिन यह फिल्म आपको वही पुरानी फिल्म 'परिंदा' को अंग्रेजी में पेश करती है. अंग्रेजी फिल्मों में बहुत ज्यादा इमोशन भी कामयाब नहीं होते और अगर आप फिल्म को देखें तो आपको विधु विनोद चोपड़ा साहब की भावुकता जरूर नजर आती है. हॉलीवुड में इसे एक अच्छा प्रयास कहा जा सकता है. हमे पूरी आशा है की इसके बाद '3 इडियट्स' और 'पीके' जैसी फिल्मों के मेकर अपनी अगली फिल्म में और बेहतर करने का प्रयास करेंगे.
?