प्लेन क्रैश के बाद अमेजन के जंगल में फंसे 4 बच्चे, जानिए क्या है मामला

बोगोटा: कोलम्बिया में अमेजन जंगल में हुए एक प्लेन क्रैश के बाद चार बच्चे बहुत दिनों तक वहां खो गए। इन बच्चों ने वास्तव में बचपन से जाना होने के कारण उन बीजों, जड़ों और पौधों को खाने का चुनाव किया जो उन्हें जीवित रख सकते थे। इसके साथ ही, इन चारों बच्चों की खोज में स्थानीय लोगों की जानकारी ने उच्च महत्वपूर्णता रखी, जिन्होंने कोलम्बियाई सैनिकों के साथ मिलकर इस बच्चों की खोज की। 'एएफपी' न्यूज़ एजेंसी की एक रिपोर्ट के अनुसार, कोलम्बिया के राष्ट्रीय संगठन OPIAC ने कहा कि "बच्चों का जीवित रहना प्रकृति ज्ञान और उसके साथ संबंधित महत्व का संकेत है, जिसे मां के गर्भ में सिखाया जाता है।"

यह बात खास दिलचस्प है कि इन चार भाई-बहनों ने विमान हादसे के बाद 1 मई को जंगल में बहुत कठिनाई से बच जाए थे, जिसमें पायलट, उनकी मां और एक तीसरा व्यक्ति की मौत हो गई थी। इन बच्चों के परिवार को उम्मीद थी कि वे जंगल में जीवित रहेंगे और फिर से घर लौटेंगे। इन बच्चों ने क्रैश हुए प्लेन पर मौजूद युक्का आटा का उपयोग करके जीवित रहा। उन्होंने खोज के दौरान गिराए गए हेलिकॉप्टर से प्राप्त किया गया खाद्य सामग्री का भी उपयोग किया। इसके अलावा, इन बच्चों ने अपने जीवित रहने के लिए अमेजन इलाके में उपस्थित बीज, फल, जड़, और पौधों को भी खाया। खोज के दौरान, सैनिकों ने 20 दिनों तक स्थानीय ट्रैकर्स के साथ मिलकर कठिनाई से काम किया। सेना के हेलिकॉप्टरों ने बच्चों की दादी की रिकॉर्डिंग प्रसारित की और उन्हें स्वदेशी हुइतोटो भाषा में बचाव दल के पहुंचने तक एक ही स्थान पर ठहरने के लिए कहा। बचाव दल ने चाकू का उपयोग करके पेड़ों को काटा और उन पर स्प्रे पेंट का उपयोग करके उन्हें निशान लगा दिया ताकि बच्चों को रास्ता मिल सके।

पूरी कहानी यह है कि चार बच्चे कोलम्बिया के अमेजन जंगल में जंगलों से परिचित थे, जहां वे अपने जीवन को जारी रखने के लिए वनस्पतियों को खाते रहे। उनकी बचाव के लिए लड़ाई में सैनिकों और स्वयंसेवकों ने साथ मिलकर काम किया। इस घटना ने मानवीय सहानुभूति और पर्यावरण के महत्व को परिलक्षित किया है, जो हमें संगठित तरीके से सीखाया जाता है। यह साबित करता है कि मां की गर्भ में ही पर्यावरण ज्ञान शुरू हो जाता है और वहां से हमें वनस्पतियों के प्रति संवेदनशीलता विकसित करनी चाहिए।

ताजमहल का वो इतिहास जिसके बारें में नहीं जानते होंगे आप

पाकिस्तान में पेश किया गया 14.46 ट्रिलियन रुपये का बजट, आधे से कर्ज चुकाएगी शाहबाज़ सरकार

जानिए क्या है उदयपुर पैलेस के फेमस होने के पीछे की सच्चाई

- Sponsored Advert -

Most Popular

मुख्य समाचार

मध्य प्रदेश जनसम्पर्क न्यूज़ फीड  

हिंदी न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_News.xml  

इंग्लिश न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_EngNews.xml

फोटो -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_Photo.xml

- Sponsored Advert -