हिरासत में दलित की मौत, पूरी पुलिस चौकी सस्पेंड

कानपुर : इन दिनों पूरे देश में दलितों का मुद्दा छाया हुआ है। कानपुर की एक जेल में एक दलित कैदी की मृत्यु होने के बाद से वहां बवाल मचा हुआ है। कानपुर के चकेरी पुलिस थाने की अहिरवां पुलिस चौकी में दलित की मौत होने के बाद पूरी पुलिस चौकी को सस्पेंड कर दिया गया है। इतना ही नहीं सभी पुलिस कर्मियों के खिलाफ हत्या व अपहरण का मामला भी दर्ज किया गया है।

दो दिन पहले पुलिस कमल वाल्मीकि नाम के एक शख्स को पूछताछ के लिए थाने लाई थी। उस पर चोरी का इल्जाम था। कल थाने में संदिग्ध परिस्थिति में उसका शव पाया गया। अब पीड़ित परिवार का आरोप है कि आरोपी की जान पुलिस की पिटाई के कारण गई है। इस के विरोध में मृतक के परिजनों ने थाने पर पथराव किया और नजदीक के सड़क को जाम कर दिया।

शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा गया है, इसके बाद ही हत्या के कारणों का पता चल पाएगा। कमल के साथ हिरासत में लिया गया राजू नाम का शख्स भी लापता है। पुलिस प्रवक्ता के अनुसार, कुछ दिनों पहले इलाके में हुई लूट के मामले में पूछताछ के लिए शिव कटरा के 26 वर्षीय कमल वाल्मीकि को बुधवार रात अहिरवां चौकी लाया गया था और उससे पूछताछ की गई थी।

उसे गिरफ्तार नहीं किया गया था। गुरुवार की दोपहर करीब 2 बजे जब सारे पुलिसकर्मी ड्यूटी पर गए थे, तब उसने संदिग्ध परिस्थितियों में कथित रूप से आत्महत्या कर ली। घटना की सूचना मिलते ही आनन-फानन में पुलिस के आला अधिकारी घटना स्थल पर पहुंच गए और पुलिस ने शव पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया।

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -