झारखण्ड में कुपोषण से 14 लोगों की मौत, सरकार पर आरोप, राशन कार्ड को आधार से लिंक करवाने के चक्कर में हुई मौते

Aug 11 2018 06:16 PM
झारखण्ड में कुपोषण से 14 लोगों की मौत, सरकार पर आरोप, राशन कार्ड को आधार से लिंक करवाने के चक्कर में हुई मौते

रांची। झारखण्ड में कुपोषण की वजह से पिछले 10 महीनों में 14 लोगों की मौत हो गयी है। झारखण्ड के सामाजिक कार्यकर्ता ने इन मौतों के लिए सरकार को जिम्मेदार ठहराया है। इन कार्यकर्ताओं का मानना है कि जब से सरकार ने राशन लेने के लिए राशन कार्ड को आधार से लिंक करवाना अनिवार्य किया है तब से गरीबों को राशन नहीं मिल पा रहा है और इस वजह से वे कुपोषण के शिकार बनते जा रहे। 

स्वामी अग्निवेश पर हमला करने वाले आठ के खिलाफ FIR

दरअसल इसी साल 26 जुलाई के दिन झारखण्ड में राजेंद्र बिरहोर नाम के एक 40 वर्षीय आदिवासी की कुपोषण से मौत हो गयी थी। तब उसके परिजनों ने बताया था कि पहले सरकारी योजना के तहत राशन कार्ड दिखाकर राशन मिल जाता था लेकिन जब से सरकार ने आधार कार्ड अनिवार्य किया है। तब से राशन मिलना बिलकुल बंद हो गया है। तब से इस मामले ने तूल पकड़ी थी। 

झारखंड में विपक्ष का गठबंधन बीजेपी के लिए खतरा

इस घटना के बाद से इलाके के सामाजिक कार्यकर्ताओं ने ऐसे मामलों की जाँच करने के साथ साथ इन मुद्दों को उठाना भी शुरू कर दिया था। गौरतलब है कि झारखण्ड के कुछ कुछ इलाको में कुपोषण एक गंभीर समस्या है और सरकार इसे दूर करने के लिए कुछ योजनाए भी बना चुकी है। लेकिन इन योजनाओं का लाभ लेने के लिए आधार कार्ड अनिवार्य कर दिया गया है। 

ख़बरें और भी 

आदिवासियों के अधिकार के लिए मनाया जाता है विश्व आदिवासी दिवस

मुख्यमंत्री रघुवर दास से मिलने पहुंचे रवि किशन

विपक्ष के नेता इंडियन मुजाहिदीन और अफजल गैंग जैसे-मंत्री

?