News Trending

नई दिल्ली : अमेरिका, यूरोप और जापान से मांग बढ़ने के कारण जनवरी में लगातार पांचवें महीने देश से निर्यात बढ़ा है. इसका आशय यही है कि नोटबंदी का निर्यात पर उतना असर नहीं हुआ है, जितनी आशंका जताई जा रही थी. हालांकि, आयात में तेजी से हुई बढ़ोतरी से व्यापार घाटे में भी वृद्धि हुई है.

वाणिज्य और उद्योग मंत्रालय के आंकड़ों के अनुसार, जनवरी में निर्यात 4.3 फीसदी बढ़कर 22.1 अरब डॉलर का रहा. आयात में 10.7 फीसदी की वृद्धि दर्ज की गई और यह 31.9 अरब डॉलर पर पहुंच गया. इससे जनवरी में 9.8 अरब डॉलर (करीब 65,615 करोड़ रुपये) का व्यापार घाटा रहा, जो एक वर्ष पहले इसी महीने में 7.6 अरब डॉलर (करीब 50885 करोड़ रुपये) का था. जनवरी में सोने का आयात लगभग 30 फीसदी घटकर 2.04 अरब डॉलर रह गया.

बता दें कि निर्यात करने वाले 30 क्षेत्रों में से 17 की शिपमेंट बढ़ी है, लेकिन लेदर, कार्पेट और जेम ऐंड जूलरी जैसे श्रम का अधिक इस्तेमाल करने वाले क्षेत्र के निर्यात में कमी दर्ज की गई .वाणिज्य एवं उद्योग मंत्रालय ने कहा कि कुल व्यापार संतुलन में सुधार हुआ है.

यह भी पढ़ें 

आशियाना बनाने वालों के लिए अच्छी खबर, ब्याज दर में मिलेगी सब्सिडी

अब 5 मिनट में सिम की तरह मिलेगा पैन कार्ड