ट्राई ने नकारा फ्री बेसिक्स को, लेकिन जुकरबर्ग फिर भी है आशावादी

Feb 09 2016 07:10 PM
ट्राई ने नकारा फ्री बेसिक्स को, लेकिन जुकरबर्ग फिर भी है आशावादी

नई दिल्ली। दूरसंचार नियामक ट्राई ने सोमवार को नेट न्यूट्रैलिटी के पक्ष में फैसला सुनाते हुए फेसबुक की फ्री बेसिक्स और एयरटेल एयरटेस जीरो जैसी फ्री इंटरनेट सेवा को नकार दिया है। ट्राई ने इन योजनाओं को खारिज कर दिया है। इतना ही नहीं ट्राई ने भेदभाव आधारित कीमत तय करने पर भी प्रतिबंध लगा दिया है।

इसके बाद अब एयरटेल, रिलायंस या फेसबुक कीमत के आधार पर यूजर्स से भेदभाव नहीं कर सकेगी। इसी पर अपनी प्रतिक्रिया देते हुए मार्क जुकरबर्ग ने कहा कि मैं निराश जरुर हुआ हूँ लेकिन हार नहीं मानी है। जुकरबर्ग ने कहा वो भारत और दुनिया भर में कनेक्टिविटी बैरियर के लिए काम करते रहेंगे।

उन्होने अपनी फेसबुक पोस्ट में लिखा कि इंटरनेट डॉट ओआरजी कई पहलें है और वो तब तक काम करते रहेंगे जब तक हर किसी तक इंटरनेट नहीं पहुंच जाता है। फेसबुक फ्री बेसिक्स प्रोग्राम के तहत दुनिया के 37 देशों में 1.5 करोड़ मोबाइल यूजर को फेसबुक के पेयर्ड डाउन वर्जन और मौसम व जॉब की जानकारी मिलेगी। हांलाकि अप्रैल में जब इसे भारत में लांच किया गया तो इंटरनेट एक्टिविस्ट ने इसे नेट न्यूट्रैलिटी का उल्लंघन करार दिया।