Share:
इस ब्लड ग्रुप वालों को सबसे ज्यादा होता है ब्रेन अटैक का खतरा
इस ब्लड ग्रुप वालों को सबसे ज्यादा होता है ब्रेन अटैक का खतरा

स्ट्रोक ऐसी गंभीर स्थिति है जो तब उत्पन्न होती है जब दिमाग में रक्त का प्रवाह रुक जाता है। जी हाँ और यह न्यूरोलॉजिकल प्रॉब्लम है, जिसे ब्रेन अटैक भी कहा जाता है। वहीं आसान शब्दों में समझें तो जब मास्तिष्क में ब्लड वेसेल्स फट जाती हैं और खून बहने लगता है, तब स्ट्रोक की स्थिति आती है। आपको बता दें कि इस स्थिति में इंसान की मौत तक हो जाती है। हालाँकि आज हम आपको बताने जा रहे हैं कौन से ब्लड ग्रुप वाले लोगों को स्ट्रोक का खतरा अधिक रहता है। यह रिसर्च में पाया गया है।

जी दरअसल रिसर्चर्स का कहना है कि किसी भी व्यक्ति के ब्लड ग्रुप से स्ट्रोक के जोखिम का पता लगाया जा सकता है। जी हाँ और अमेरिकी रिसर्चर्स ने आनुवंशिकी स्ट्रोक और इस्केमिक स्ट्रोक (स्ट्रोक का सबसे कॉमन प्रकार) की कई रिसर्चों का रिव्यू किया। इस्केमिक स्ट्रोक तब होता है जब ब्लड क्लॉट मस्तिष्क में खून और ऑक्सीजन की सप्लाई को रोकने लगता है। आपको बता दें कि यह सबसे कॉमन स्ट्रोक का प्रकार है जो हर 10 केसों में से 9 लोगों को होता है। हालाँकि खून के थक्के आमतौर पर उन क्षेत्रों में बनते हैं जहां समय के साथ धमनियों सिकुड़ जाती हैं।

जी दरअसल वैज्ञानिकों ने पाया कि ब्लड ग्रुप ए वाले लोगों में अन्य सभी ब्लड ग्रुप के लोगों की तुलना में 60 साल की उम्र से पहले स्ट्रोक का जोखिम 16 प्रतिशत अधिक होता है। ब्लड ग्रुप के साथ लिंग, वजन और अन्य कारक भी जिम्मेदार होते हैं। केवल यही नहीं बल्कि इसके अलावा, टाइप बी (B) ब्लड ग्रुप वाले लोगों को स्ट्रोक का खतरा थोड़ा अधिक था लेकिन ब्लड ग्रुप ओ (O) वालों के लिए सबसे कम जोखिम था। रिसर्चर्स का कहना है, कुछ ब्लड ग्रुप के लिए यह जोखिम मामूली था और लोगों को इसकी चिंता नहीं करनी चाहिए।

ओ ब्लड ग्रुप वालों को राहत- हाल ही में हुई स्टडी के मुताबिक, मैरीलैंड यूनिवर्सिटी की टीम ने 7 हजार स्ट्रोक पेशेंट और अलग-अलग रिसर्च में शामिल 6 लाख लोगों की हेल्थ की जांच की। इसी के साथ उन्होंने पाया कि O ब्लड ग्रुप वाले लोगों को 60 साल की उम्र से पहले स्ट्रोक होने की संभावना 12 प्रतिशत कम थी, जबकि B और AB प्रकार के ब्लड ग्रुप पर कोई प्रभाव नहीं पड़ा था। इसके अलावा रिसर्च में यह भी बताया गया कि टाइप ए ब्लड ग्रुप वाले लोगों में हर 16 मामलों में से एक मामले में स्ट्रोक का कारण सिर्फ उनके ब्लड को ठहराया जा सकता है। 

इन ब्लड ग्रुप वालों को है इतने प्रतिशत अधिक खतरा-
ओ पॉजिटिव (O positive) : 38% अधिक। 
ओ नेगेटिव (O negative) : 7% अधिक। 
ए पॉजिटिव (A positive): 34% अधिक। 
ए नेगेटिव ( A negative): 6% अधिक। 
बी पॉजिटिव (B positive): 9%अधिक। 
बी नेगेटिव (B negative): 2% अधिक। 
एबी पॉजिटिव (AB positive): 3% अधिक। 
एबी नेगेटिव (AB negative): 1% अधिक। 

रात के खाने में भूल से भी ना शामिल करें ये चीजें, जानिए क्या खाना होगा बेहतर

चेहरे पर दिखती है डबल चिन तो रोज करें सिंहासन

डायबिटीज को रखना है नियंत्रण में तो आपको अपनाने होंगे ये टिप्स

 

रिलेटेड टॉपिक्स
- Sponsored Advert -
मध्य प्रदेश जनसम्पर्क न्यूज़ फीड  

हिंदी न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_News.xml  

इंग्लिश न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_EngNews.xml

फोटो -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_Photo.xml

- Sponsored Advert -