सुमित्रा महाजन : भारत को स्थायी सदस्यता देकर संयुक्त राष्ट्र को जीवंत बनाने का वक्त आया

Sep 02 2015 11:38 PM
सुमित्रा महाजन : भारत को स्थायी सदस्यता देकर संयुक्त राष्ट्र को जीवंत बनाने का वक्त आया

संयुक्त राष्ट्र । लोकसभा अध्यक्ष सुमित्रा महाजन ने संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में शीघ्र सुधार की जरूरत पर जोर देते हुए कहा है कि यह समय भारत को स्थायी सदस्य के तौर पर शामिल कर प्रभावशाली ईकाई को जीवंत बनाने का है। सुमित्रा महाजन ने यह बात 31 अगस्त को यहां जारी संसद के अध्यक्षों के चौथे विश्व सम्मेलन से अलग संयुक्त राष्ट्र महासचिव बान की मून के साथ मुलाकात के दौरान कही।

सूत्रों के अनुसार लगभग 30 मिनट की इस मुलाकात में सुमित्रा ने विश्व संस्था के महासचिव के साथ संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में सुधार, आतंकवाद, शांति बहाली और जलवायु परिवर्तन जैसे महत्वपूर्ण मुद्दों पर चर्चा की। बान ने भारत के लोकतंत्र की जीवंतता की सराहना की। इस पर सुमित्रा ने कहा कि एक जीवंत सुरक्षा परिषषद का समय आ गया है जिसमें भारत स्थायी सदस्य के तौर पर शामिल हो। सुमित्रा ने बान से कहा कि भारत नई जिम्मेदारी स्वीकार करने के लिए तैयार है और दुनिया का सबसे ब़़डा लोकतंत्र एवं उभरती अर्थव्यवस्था सुरक्षा परिषद को और अधिक जीवंत तथा प्रतिनिधिपरक बनाएगी।

उन्होंने कहा कि संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में सुधार होना चाहिए और उसका पुनर्गठन होना चाहिए ताकि वर्तमान राजनीतिक वास्तविकताएं प्रतिबिंबित हो सकें। इसके साथ ही और अधिक विकासशील देशों को स्थायी एवं अस्थायी सदस्यों के तौर पर शामिल किया जाना चाहिए। सुमित्रा ने कहा कि सुधार न होने से सुरक्षा परिषषद की विश्वसनीयता और उसकी प्रभावशीलता पर असर प़़डा है।

बढ़ते आतंकवाद पर चिंता जताते हुए सुमित्रा ने बान से आग्रह किया कि न सिर्फ आतंकवाद के खिलाफ कार्रवाई की जानी चाहिए बल्कि उन देशों के खिलाफ भी कार्रवाई की जानी चाहिए जो ऐसे गुटों को सहयोग देते हैं, उन्हें प्रायोजित करते हैं और आतंकियों को पनाह देते हैं। साथ ही प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की LPG अपील को सहयोग का मॉडल करार दिया। सोमवार को संसद के अध्यक्षों के चौथे विश्व सम्मेलन' को संबोधित करते हुए महाजन ने कहा कि वैश्विक स्थिरता का लक्ष्य हासिल करने के लिए किए जा रहे प्रयासों का बोझ सिर्फ विकासशील देशों पर नहीं डाला जाना चाहिए।