सामने आया ओमिक्रॉन संक्रमण का खास लक्षण, न समझे जुकाम

नई दिल्ली: कोविड-19 का नया वैरिएंट ओमिक्रॉन इन दिनों भारत में कोहराम मचा रहा है। यहाँ लोग डरे और सहमे हुए हैं। वहीं दूसरी तरफ शोधकर्ता लगातार इस नए वेरिएंट को समझने की कोशिश कर रहे हैं। आप सभी को बता दें कि हाल ही में ओमिक्रॉन के संक्रमण को लेकर एक नए शोध में यह बात सामने आई है कि ये बिल्कुल सामान्य सर्दी जुकाम की तरह नजर आता है। यही वजह है कि इसकी पहचान करना और मुश्किल है। हाल ही में शोधकर्ताओं ने कहा है कि संभव है कि वायरस ने सामान्य जुकाम वाले वायरस से आनुवंशिक सामग्री ली हो और अपना कम से कम एक म्यूटेशन किया हो।

आपको बता दें कि इससे पहले भी कई शोध में कहा गया है कि ओमिक्रॉन संक्रमण के लक्षण बाकी वैरिएंट्स से अलग नजर आ रहे हैं। पहले यह कहा गया था कि इसके लक्षण बहुत गंभीर नहीं है इसलिए संक्रमित लोगों को इसका पता लगने में और देरी हो सकती है। वहीं अब यह कहा जा रहा है कि ओमिक्रॉन का संक्रमण संभवतः सामान्य जुकाम की तरह दिखता है। जी दरअसल इस बात को लेकर कैंब्रिज यूनिवर्सिटी के वेंकी सुंदरराजन के नेतृत्व में एक रिसर्च किया गया है। ऐसे में शोध में पता चला है कि यह म्यूटेशन एक सेल (कोशिका) में हुआ होगा जो SARS- Cov- 2 और कोल्ड वायरस, दोनों को ही होस्ट कर सकता है।

शोध में मिली जानकारी में यह सामने आया है कि ओमिक्रॉन वायरस अधिक तेजी से फैलता है, मगर इसके लक्षण या तो नहीं दिखते या फिर बेहद हल्के दिखते हैं। केवल यही नहीं बल्कि कैंब्रिज के रिसर्च में यह बात सामने आई है कि 'ओमिक्रॉन वैसे व्यक्ति में पैदा हुआ होगा जो दोनों ही वायरस से संक्रमित होगा। ऐसे में कोविड के वायरस ने दूसरे वायरस से आनुवंशिक गुण लिए होंगे और इसी कारण ओमिक्रॉन का आनुवंशिक अनुक्रम (जेनेटिक सीक्वेंस) कोरोनावायरस के मौजूदा वैरियंट्स से मेल नहीं खाता। इसी वजह से इसके लक्षण भी अन्य कोविड वेरियंट्स से अलग हैं।'

RRR से सामने आया जूनियर एनटीआर का इंटेस लुक, इस दिन आएगा ट्रेलर

पिता ने बेटे की शादी के लिए बनवाया चिड़िया के घोसले जैसा वेडिंग कार्ड, वजह कर देगी खुश

45 लाख की मर्सिडीज खरीद भोजपुरी की रानी ने उड़ाए लोगों का होश

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -