डायबिटिक मर्दों में औरतों से ज्यादा इस गंभीर बीमारी का खतरा कैसे होता है, स्टडी में हुआ खुलासा

डायबिटिक मर्दों में औरतों से ज्यादा इस गंभीर बीमारी का खतरा कैसे होता है, स्टडी में हुआ खुलासा
Share:

डायबिटीज से पीड़ित मरीजों को लेकर एक नई स्टडी सामने आई है. अध्ययन के अनुसार, इससे शिकार पुरुषों के अंदर महिलाओं की तुलना में गंभीर स्वास्थ्य परेशानियां पैदा होने का खतरा अधिक होता है. सिडनी यूनिवर्सिटी के शोधकर्ताओं के अनुसार, डायबिटीज से हार्ट, पैर, किडनी और आंखों में होने वाली बीमारियां महिलाओं के मुकाबले पुरुषों में ज्यादा देखी गईं, भले ही उन्हें कितने वक़्त से मधुमेह हो.

रिसर्च में सम्मिलित किए गए 25,713 लोग
इस शोध में 25,713 लोगों को सम्मिलित किया गया. इनमें से सभी की आयु 45 वर्ष से ज्यादा थी तथा वे टाइप 1 या टाइप 2 डायबिटीज से पीड़ित थे. इस लोगों में सर्वे के जरिए डायबिटीज के चलते विकसित हुई स्वास्थ्य समस्याओं पर 10 वर्षों तक नजर रखी गई, फिर इस डाटा को उनके मेडिकल रिकॉर्ड से जोड़ा गया. 

हार्ट संबंधित बीमारियों के बारे में क्या कहती है स्टडी
रिसचर्स ने पाया कि 25,713 लोगों की स्टडी में  44 प्रतिशत पुरुषों में स्ट्रोक एवं हार्ट फेल्योर समेत कार्डियोवस्कुलर कॉम्पलिकेशन पाया गया. वहीं, महिलाओं में 31 प्रतिशत लोगों पर  इन बीमारियों का खतरा पाया गया. यूनिवर्सिटी की ये फाइंडिग्स 'जर्नल ऑफ एपिडेमियोलॉजी एंड कम्युनिटी हेल्थ' में प्रकाशित की गई है.

किडनी और पैर की बीमारियों पर रिसचर्स ने क्या बताया?
शोध के अनुसार, डायबिटीज से पीड़ित 25 प्रतिशत पुरुषों में पैर सबंधित समस्याएं पाई गई. वहीं, महिलाओं में ये संख्या 18 प्रतिशत है. वहीं, 35 प्रतिशत मधुमेह से पीड़ित पुरुष किडनी की बीमारियों के शिकार पाए गए. वहीं डायबिटीज से पीड़ित महिलाओं में ये संख्या 25 प्रतिशत पाया गया.

रिसचर्स के अनुसार, डायबिटीज से पीड़ित महिलाओं की तुलना में इससे पीड़ित पुरुषों में हार्ट संबंधी समस्याएं होने की आशंका 51 प्रतिशत ज्यादा थी. डायबिटीज से पीड़ित पुरुषों में किडनी की बीमारी होने की आशंका 55 प्रतिशत ज्यादा पाई गई.

आंख संबंधी बीमारी पर स्टडी में निकल कर आया ये निष्कर्ष
इसके अतिरिक्त डायबिटीज के मरीजों में पैर संबंधी बीमारी होने की आशंका 47 प्रतिशत पाई गई. हालांकि, आंखों की बीमारी होने के मामले में डायबिटीज पुरुषों एवं महिलाओं के बीच अंतर बेहत कम मिला. शोध के अनुसार, 57 प्रतिशत पुरुषों एवं 61 प्रतिशत महिलाओं में आंखों में परेशानी होने की आशंका पाई गई

यह व्यापक शोध मधुमेह और इसकी जटिलताओं के प्रबंधन में लिंग-विशिष्ट दृष्टिकोण की आवश्यकता को रेखांकित करता है।

हाई कोलेस्ट्रॉल के मरीजों को गलती से भी नहीं करना चाहिए इन चीजों का सेवन

गर्मियों में प्याज का खूब सेवन करना चाहिए, इसके लिए बनाएं टेस्टी प्याज की सब्जी

अगर बच्चे का गर्भधारण नहीं हुआ है तो डॉक्टर फॉलिकल टेस्ट की सलाह देते हैं, जानें क्या है और होता है कितना खर्च

रिलेटेड टॉपिक्स
- Sponsored Advert -
मध्य प्रदेश जनसम्पर्क न्यूज़ फीड  

हिंदी न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_News.xml  

इंग्लिश न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_EngNews.xml

फोटो -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_Photo.xml

- Sponsored Advert -