सुबह उठकर भूल से भी ना देखे ये चीजें वरना हो जाएगा बड़ा नुकसान

आप सभी जानते ही होंगे हिंदू पुराणों में संतुलित जीवन जीने की सलाह दी गई है। हालाँकि आज का दौर तेजी से बदल रहा है और ऐसा होने से आज की पीढ़ी के जीवन में भटकाव बन रहा है। अगर आप शांति और प्रसन्नता चाहते हैं तो सुव्यवस्थित दिनचर्या तय करना अनिवार्य है। ऐसा होने से आपके जीवन के सभी बिगड़े काम बनने लगेंगे। जी दरअसल अपना दिन शुभ बनाने के लिए आमतौर पर लोग सुबह उठते ही अपने गुरु या इष्ट का चेहरा देखते हैं। हालाँकि कुछ ऐसे भी लोग होते हैं, जिन्हें वे सबसे ज्यादा प्यार करते हैं, उन्हें देखना पसंद करते हैं। वहीं धार्मिक और शास्त्रीय मान्यताओं के अनुसार सुबह उठते ही हथेली के दर्शन करना सबसे शुभ होता है। जी हाँ और इसे कर दर्शन का संस्कार कहा जाता है यानि अपनी हथेलियों को देखना।

ऐसा करने से सुखमय जीवन का आरंभ होता है। इसके अलावा देवी-देवताओं का आशीर्वाद मिलता है। इसी के साथ जीवन में धन-धान्य, स्वास्थ्य और करियर से संबंधित सभी परेशानियां दूर होती हैं। शास्त्रों के मुताबिक हाथ के अग्रभाग में लक्ष्मी, मध्य भाग में सरस्वती तथा मूल भाग में परमब्रह्म गोविंद का वास होता है। सुबह अच्छी चाहते हैं तो आप प्रात: दोनों हथेलियों को आपस में पुस्तक की तरह खोल कर जोड़ लें, फिर उन्हें देखते हुए इस मंत्र का जाप करें- ''ॐ कराग्रे वसते लक्ष्‍मी: करमध्‍ये सरस्‍वती। करमूले च गोविंद: प्रभाते कुरुदर्शनम्।।''

जी दरअसल वास्तु शास्त्र के अनुसार सुबह उठकर हथेलियों का दर्शन करना बहुत शुभ माना जाता है। इसी के साथ दिन की शुरुआत अच्छी करना चाहते हैं तो सुबह के समय आईना न देखें, ऐसा करने से रात भर की नकारात्मकता आप पर हावी होने लगती है। आप सभी को बता दें कि टॉयलेट का कमोड देखने से राहु का प्रभाव नेगेटिव वाइब्स को जन्म देता है। इसके अलावा रात को झूठे बर्तन साफ करके रखें, सुबह-सवेरे इन्हें देखने से व्यक्तित्व पर बुरा प्रभाव पड़ता है।

नौतपा में भूल से भी ना करें ये काम वरना झेलना पड़ेगा सूर्य देव का कोप

महिलाएं शनि देव की पूजा कर सकती हैं या नहीं? जानिए सबसे सटीक जवाब

इन लोगों को मिलता है शनि महाराज की पूजा का सबसे अधिक लाभ

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -