क्रिसमस: कहीं शैतान बनकर घुमते हैं पुरुष तो कहीं घर के बाहर बनाते हैं मकड़ी जाल

क्रिसमस का दिन आने में अब कुछ ही समय बचा है। ऐसे में यह पर्व दुनियाभर में हर्षोल्‍लास के साथ मनाया जाता है। आप सभी को बता दें कि दुनियाभर में क्रिसमस से जुड़े अलग-अलग रिवाज भी हैं। जी हाँ और इनमें से कुछ तो काफी अजीब हैं जबकि कुछ काफी मजेदार भी हैं। आज हम आपको उन्ही के बारे में बताने जा रहे हैं।

ऑस्ट्रिया- यहाँ सेंट निकोलस का एक दुष्‍ट दुश्‍मन है जिसका नाम है क्रैम्पस (Krampus)। कहा जाता है वह सेंट निक के अच्छे स्‍वभाव का ही उलट एक बुरा राक्षस है। ऐसी मान्यता है कि दानव जैसा जिखने वाला प्राणी क्रैम्‍पस, क्रिसमस से पहले बुरे बच्चों को सजा देता है। वहीं शैतान की वेशभूषा में सजे पुरुष सड़कों पर घूमते हैं और वह बुरे बच्चों का अपहरण करने और उन्हें नरक में ले जाने के लिए जंजीर और टोकरी लेकर चलते हैं। इस दौरान यह बच्चों को सड़कों से दूर रखने का एक तरीका है।

स्‍पेन- यहाँ के कैटालोनिया समेत कई इलाकों में एक खास रिवाज है। यहाँ लकड़ी के एक लट्ठे को आधा कंबल से ढक दिया जाता है और बाहर निकले हिस्‍से पर आंखें, नाक और चेहरा बना दिया जाता है। जी हाँ और इसे क्रिसमस से पहले खूब अच्‍छा खाना और ड्राई फ्रूट्स खिलाए जाते हैं। उसके बाद क्रिसमस की शाम घर के लोग इसे लकड़ी के डंडे से पीटते हैं ताकि उसने जो भी खाया हो सब शौच के रास्‍ते बाहर निकल जाए। वहीं इसके बाद कंबल हटाकर सभी अपने अपने गिफ्ट्स उठा लेते हैं। ऐसी मान्यता है कि माता-पिता अपने बच्‍चों के लिए कंबल के अंदर गिफ्ट्स छुपा देते हैं। 

यूक्रेन - यहाँ मकड़ी के जालों जैसी सजावट से घर सजाने की भी परंपरा है। कहा जाता है यहां कि एक पुरानी लोककथा है जिसके अनुसार, एक गरीब विधवा के पास अपने बच्चों के लिए क्रिसमस ट्री सजाने के पैसे नहीं थे। ऐसे में घर की मकड़ियों को परिवार पर दया आई और उन्होंने पूरे पेड़ पर सुंदर जाले बिखेर दिए, जिसे बच्चों ने क्रिसमस की सुबह देखा और खुश हो उठे। जी दरअसल यूक्रेनी संस्कृति में मकड़ियों के जाले को भाग्यशाली भी माना जाता है।

क्रिसमस पर दिखना चाहती हैं सबसे खूबसूरत तो इस तरह हो तैयार

Omicron की दहशत, दिल्ली में क्रिसमस और न्यू ईयर के जश्न पर लगा बैन

मैरी क्रिसमस सुविचार

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -