इतिहास में पहली बार मई माह में भी बर्फ से लदालद है देवभूमि के पहाड़

शिमला : प्रदेश में मौसम ने एक बार फिर करवट ली है। मई महीने में देवभूमि के पहाड़ फिर बर्फ से लकदक हो गए हैं। रोहतांग में 15 सेंटीमीटर और लाहौल में पांच सेंटीमीटर ताजा बर्फबारी हुई है। जनजातीय जिला लाहौल-स्पीति को जोड़ने वाले रोहतांग दर्रा के साथ लाहौल की वादियां भी ताजा बर्फबारी से लकदक हो गई हैं। पहाड़ों में हुई ताजा बर्फबारी से जहां तामपान में भारी गिरावट दर्ज की गई है वहीं रोहतांग दर्रा की बहाली को भी झटका लगा है।

आपस में हुई ट्रैक्टर-ट्राली और ट्राले की जोरदार भिड़ंत, चार की मौत

इस तरह रहा मौसम 

सूत्रों से प्राप्त जानकारी के अनुसार हमीरपुर जिले में भी मौसम खराब है। यहां तेज हवाएं चल रही हैं, जिसके कारण बड़सर में एक गौशाला की छत उड़ गई। अंधड़ के साथ बारिश हो रही है। कई इलाकों की बिजली रात से गुल है। कई घरों की छतों की टीन उड़ गई है। तापमान में गिरावट से लोगों को बढ़ती गर्मी से राहत मिली है। गेहूं की कटाई कर रहे किसानों के लिए बारिश आफत बन गई है। कई किसानों की फसल भीग गई है। ऊना में तेज हवाओं के साथ बारिश जारी है।

देश में पड़ रही है प्रचंड गर्मी, लू ने किया जीना मुहाल

आगे ऐसा रहेगा मौसम 

इसी के साथ मौसम की दुश्वारियों से बागवानों की चिंता बढ़ गई है। मौसम के लगातार बिगड़ रहे मिजाज से ऊपरी शिमला, आउटर सिराज और किन्नौर के बागवानों को चिंता सता रही है। बारिश और आंधी से सेब की बंपर फसल होने की उम्मीद अब टूटती नजा आ रही है। सेब सहित अन्य नकदी फसलों पर खतरा मंडराता नजर आ रहा है।

लखनऊ : गैस चूल्हे के गोदाम में लगी आग, मासूम समेत पांच की मौत

इस पहाड़ी राज्य में बढ़ रहा है आंधी और ओले का खतरा

चक्रवाती तूफान फैनी को ध्यान में रखते हुए केंद्र ने जारी किया एडवांस फंड

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -