हम और हमारे पूर्वजों ने कभी जिन्ना को आदर्श नहीं माना- मौलाना मदनी

अलीगढ: AMU में जिन्ना की तस्वीर से उठे विवाद ने अलीगढ के हालत बेकाबू का दिए है और इलाके में धारा 144 लगा दी गई है साथ ही इंटरनेट सेवाएं भी बंद कर दी गई है. इसी बीच एएमयू में मोहम्मद अली जिन्ना की तस्वीर पर प्रमुख मुस्लिम संगठन जमीयत उलेमा-ए-हिंद के महासचिव मौलाना महमूद मदनी ने शुक्रवार को कहा कि जिन्ना को ‘हमारे पूर्वजों ने आदर्श नहीं माना था और द्विराष्ट्र के उनके सिद्धांत को ठुकरा दिया था और पाकिस्तान के संस्थापक को हम भी आदर्श नहीं मानते.’’

मौलाना मदनी ने शुक्रवार को एक बयान में कहा, ‘‘हमारे बुजर्गों ने जिन्ना को अपना आदर्श नहीं माना और न ही उनके सिद्धांत का समर्थन किया बल्कि इस देश में हमारा रहना ही इस बात का सबूत है कि हमने उनके द्विराष्ट्र सिद्धांत को सिरे से खारिज कर दिया. जिन्ना को लेकर हमारी भी वही राय है जो हमारे बुजुर्गों की थी.’’

उन्होंने कहा, ‘‘ एक तस्वीर को बहाना बनाकर जिस तरह से कुछ लोगों ने विश्वविद्यालय में विरोध प्रदर्शन किया और पुलिस ने निहत्थे छात्रों पर लाठियां भांजी, वह किसी भी लोकतांत्रिक देश में नजरअंदाज नहीं किया जा सकता. देश के एक बड़े विश्वविद्यालय को निशाना बनाया जाना निंदनीय है.’’ गौरतलब है कि बीजेपी नेता सतीश गौतम ने AMU में लगी जिन्ना कि तस्वीर पर आपत्ति लेते हुए एक खत लिखा था जिसके बाद ये विवाद इतना बाद गया की फ़िलहाल AMU परिसर और पुरे अलीग़ढ को छावनी बना दिया गया है.    

जिन्ना की तस्वीर: अलीगढ़ में धारा 144, इंटरनेट बंद

एएमयू मिनी पाकिस्तान है - हिन्दू महासभा

जिन्ना की तस्वीर: हिन्दू वाहिनी ने दी चेतावनी

जिन्ना ने देश के टुकड़े किये, बखान का सवाल ही नहीं उठता- योगी

जिन्ना की तस्वीर और सियासी आग में झुलसा AMU का प्रांगण

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -