फिल्मी कहानी से कम नहीं है इस तस्वीर की कहानी..!!

फिल्मी कहानी से कम नहीं है इस तस्वीर की कहानी..!!

हाल ही में सोशल मीडिया पर एक फोटो वायरल हो रही है जिसमें एक बूढ़ी मां और स्कूल ड्रेस में आपको बच्ची दिख रही है। जिसमें वह दोनों रोते हुए दिख रहे है। आप भी इस इमोशनल तस्वीर को देखकर इमोशनल हो गए होंगे। लेकिन जब इस फोटो की असल कहानी आप जानेगे शायद आपके रोंगटे खड़ें हो जाए। इस फोटो को समाज सेविका और महिलाओं के हक के लिए लड़ाई लड़ने के वाली अनिता चैहान ने सोशल मीडिया पर शेयर किया है। इसके बाद में इसे क्रिकेटर हरभजन सहित कई बड़े लोगों ने भी शेयर किया है। इतना ही नहीं इस फोटो के वायरल होने पर अब तक इसे 13,000 हजार बार रिट्टवीट किया जा चुका है। आपको बता दें कि यह तस्वीर 2007 की है। 

जो फोटो आप देख रहे है वह असल में दादी और पोती की है। 11 साल पुरानी यह फोटो तब खींची गई थी जब पोती स्कूल की तरफ से वृ़द्धाश्रम गई थी। उस दौरान वहां पर उसे अपनी दादी मिल जाती है जिनसे लिपटकर वह रोने लगती है। अपनी पोती को देखकर दादी भी भावुक हो जाती है। दादी -पोती का प्यार देख कर वहां मौजूद सभीजन भी भावुक हो जाते है। इस पोस्ट का खुलासा सोशल मीडिया फेसबुक पर मणि भद्रा नाम के यूजर ने  किया है। यूजर ने बताया कि पेाती कई बार अपने माता - पिता से दादी के बारे में पूछा करती थी कि वह कहां है ? तो जवाब मिलता था कि वह रिश्तेदार के यहां रहने चली गई है। जाहिर सी बात है जिस मां ने आपको जन्म दिया पाल पोस कर बड़ा किया हो आज उनकी जरूरत के वक्त में आपने उन्हें वृद्धाआश्राम छोड़ दिया।सोशल मीडिया पर बेटे बहु की घोर आलोचना की जा रही है। इस तरह से अपनी जरूरतों को पूरा करने के लिए मां - बाप को वृद्धाश्राम छोड़कर आना कितनी शर्मनाक बात है। इस बात का उन्हें अंदाजा भी नहीं है। 

लेकिन खबरों में खुलासा हुआ कि वायरल हो रही फोटो को एक एग्जीबिशन में लगाया गया था। वहीं पोती भक्ति पांचाल ने बताया कि बा दमयंति बेन पांचाल उस वक्त अपनी मर्जी से यहां आई थी। बेटा उन्हें वापस लेने आया भी था लेकिन वह वापस घर नहीं लौटी। आज भी वह वृद्धाश्रम में ही रहती है। पोती भक्ति उनसे मिलने वृद्धाश्रम जाती रहती है।

यह भी पढ़ें...

Video: बुजुर्ग दम्पति ने ऐसा काम कर उड़ाए सबके होश

पति संभालने के लिए पत्नी ने दिया ऐसा विज्ञापन, जानकर चौंक जाएंगे आप

International Lefthanders Day: आखिर क्यों होते हैं लोग लेफ्टी 

?