VI को एक बार फिर से बढ़ाना चाहिए अपने प्लान का दाम, इस कंपनी ने दिया सुझाव

नए वर्ष 2022 की शुरुआत से ठीक पहले सभी प्राइवेट कंपनियों ने अपने प्री-पेड प्लान का दाम बढ़ा दिया है। उनमें Vodafone Idea (Vi) भी शामिल हैं। अभी हाल ही में कर्ज के बोझ तले दबी कंपनी वोडाफोन आइडिया लिमिटेड ने बोला है कि भारत सरकार टेलीकॉम कंपनी में 36 प्रतिशत भागेदारी अधिग्रहित करने वाली है। वोडाफोन आइडिया ने सरकार को देय लगभग 16,000 करोड़ रुपये की ब्याज देनदारी को इक्विटी में बदलने का विकल्प चुनने का निर्णय लिया। जिसके बावजूद वोडाफोन आइडिया के प्री-पेड प्लान के महंगे होने का अनुमान भी लगाया जा रहा है।

मोतीलाल ओसवाल ने कहा कंपनी को महंगे करने चाहिए प्लान: मोतीलाल ओसवाल फाइनेंशियल सर्विसेस ने अपनी एक रिपोर्ट में बोला है कि Vodafone Idea को अपने टैरिफ प्लान का मूल्य बढ़ाया है। आशंका है कि इस बार कंपनी प्री-पेड की बजाय अपने पोस्टपेड प्लान महंगे करने वाली है, हालांकि कंपनी की ओर से अभी तक कोई आधिकारिक बयान अब तक जारी नहीं किया गया है। 

वोडाफोन आइडिया को सब्सक्राइबर को लेकर भी मंथन की आवश्यकता है। कंपनी निरंतर अपने ग्राहकों को खोती जा रही है। मोतीलाल ओसवाल की रिपोर्ट के मुताबिक वर्ष 2022 में भी लगभग 4-5 मिलियन ग्राहकों को कंपनी गवां सकती है।

नए टैरिफ से कंपनी को एवरेज रेवेन्यू प्रति यूजर (ARPU) में कम-से-कम 1.9 गुणा वृद्धि होने की उम्मीद है। ओसवाल ने अपनी रिपोर्ट में बोला है कि कंपनी को कम-से-कम अपने प्लान में 3 गुणा इजाफा करना पड़ जाएगा। बीते वर्ष नवंबर में वोडाफोन आइडिया के प्री-पेड प्लान में तकरीबन 25 प्रतिशत तक का वृद्धि हुई है। नवंबर में प्लान की कीमतों में इजाफा होने के बाद से अभी तक कई बार कंपनी के प्लान अपडेट भी हो गया है।

क्या आपका भी खो गया है पैनकार्ड तो घबराने की जरुरत नहीं

आज आप भी जीत सकते है, 20 हजार तक का इनाम

इंटरनेट डाउन होने से हर बार होता है करोड़ों का नुकसान, इस मामले में भारत है तीसरे स्थान पर

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -