वित्त वर्ष 2021-22 में धीमी पड़ी वाहन बिक्री की रफ्तार

देश में वाहनों की थोक बिक्री की तेजी पिछले वित्त वर्ष 2021-22 में सुस्त होती जा रही है. संगठन ने इस बारें में बोला है कि देश में बीते वित्त वर्ष के बीच वाहनों की कुल थोक बिक्री 6 फीसद घट चुकी है. वहीं, दोपहिया वाहनों की बिक्री घटकर 10 वर्ष के निचले स्तर पर आ चुकी है. सियाम के मुताबिक, बीते वित्त वर्ष में विभिन्न श्रेणियों में वाहनों की कुल बिक्री घटकर 1,75,13,596 इकाई रह गई, जो 2020-21 में 1,86,20,233 इकाई पर थी. 

सियाम के आंकड़ों का कहना है कि अगर 2020-21 को छोड़ा जा चुका है तो तिपहिया वाहनों की बिक्री का आंकड़ा 19 वर्ष में सबसे कम है. वहीं, वाणिज्यिक वाहनों की बिक्री भी घटी है. पिछले वित्त वर्ष में वाणिज्यिक वाहनों की बिक्री 5 वर्ष के सबसे निचले स्तर पर पहुंच चुकी है. हालांकि, इसी दौरान यात्री वाहनों की कुल बिक्री 13 फीसद बढ़कर 30,69,499 वाहन पर पहुंच चुकी है, जो 2020-21 में 27,11,457 वाहन पर थी.

दोपहिया वाहनों की कुल बिक्री 11 फीसद तक छत चुकी है, जिसके साथ ही यह 1,34,66,412 इकाई पर आ चुकी है. इससे  बीते वित्त वर्ष में दोपहिया वाहनों की बिक्री 1,51,20,783 इकाई रही थी. वित्त वर्ष 2021-22 के दौरान तिपहिया वाहनों की बिक्री बढ़कर 2,60,995 इकाई पर पहुंच गई, जो इससे बीते वित्त वर्ष में 2,19,446 रही थी.  सियाम के आंकड़ों के मुताबिक मार्च, 2022 में देश में यात्री वाहनों की कुल बिक्री एक वर्ष पहले की समान अवधि की तुलना में 4 फीसद घटकर 2,79,501 इकाई हो चुकी है. मार्च, 2021 में यात्री वाहनों की बिक्री 2,90,939 इकाई रही थी.

मार्च में दोपहिया वाहनों की बिक्री 21 फीसद घटकर 11,84,210 इकाई रह गई. मार्च, 2021 में दोपहिया वाहनों की बिक्री 14,96,806 इकाई रही थी. इस बीच मोटरसाइकिल बिक्री 21 प्रतिशत घटकर 9,93,996 इकाई से 7,86,479 इकाई रह चुकी है. स्कूटरों की बिक्री भी 21 प्रतिशत घटकर 3,60,082 इकाई रही. एक साल पहले समान माह में दोपहिया कंपनियों ने 4,58,122 स्कूटर बेचे थे.

सुरक्षा के मामले में सबसे बेस्ट है ये कार

एक बार फुल करवाने पर हौंडा की ये कार चल सकती है 1000KM तक

इन कार की कीमत उड़ा देगी आपके होश

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -