वैष्णव अखाड़े ने आज नासिक कुंभ में किया अंतिम शाही स्नान

नासिक : इन दिनों नासिक में कुंभ का दौर है। कुंभ में सन्यासियों और साधुओं के चित्र-विचित्र स्वरूप देखने को मिल रहे हैं। प्रशासन भी इन स्नानों की तैयारी में लगा था। घाटों पर सुरक्षा और स्नान के लिए पर्याप्त इंतजामों को लेकर मंथन किये गए थे। वैष्णव अखाड़ों में निर्मोही अखाड़ा, निर्वाणी अखाड़ा और दिगंबर अखाड़ों का कुंभ इस दौरान समाप्त माना जाएगा। दरअसल वैष्णव सन्यासियों का अंतिम शाही स्नान आज माना गया है। इसी बीच वैष्णव सन्यासियों ने आज अंतिम शाही स्नान किया। इस दौरान वैष्णव सन्यासी स्नान के लिए जुटे।

उल्लेखनीय है कि इस कुंभ में वैष्णव और शैव सन्यासियों के स्नान के समापन का दिन अलग-अलग होता है। कुंभ का अगला स्नान अब 25 सितंबर को होगा। इसके साथ ही कुंभ का स्नान समाप्त हो जाएगा। उल्लेखनीय है कि इसके बाद सन्यासियों को सिंहस्थ में स्नान और धार्मिक उत्सव मनाने का अवसर मिलेगा। यह सिंहस्थ अप्रैल 2016 में मध्यप्रदेश के उज्जैन में मनाया जाएगा। 12 वर्षों के अंतराल पर आने वाले इस उत्सव में प्रयाग, हरिद्वार, उज्जैन और नासिक में कुंभ का आयोजन किया जाएगा। उज्जैन और नासिक देश का एकमात्र ऐसा कुंभ है जहां न केवल शैव ओर वैष्णव सन्यासियों के घाट अलग-अलग माने जाते हैं दोनों ही मतों के सन्यासियों के स्नान की तिथियां भी अलग होती हैं।

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -