उत्तराखंड सुरंग हादसा: कांग्रेस नेता अधीर रंजन चौधरी ने बचाव कार्य को लेकर केंद्र सरकार पर लगाए गंभीर आरोप
उत्तराखंड सुरंग हादसा: कांग्रेस नेता अधीर रंजन चौधरी ने बचाव कार्य को लेकर केंद्र सरकार पर लगाए गंभीर आरोप
Share:

नई दिल्ली: मंगलवार को संसद के शीतकालीन सत्र के दौरान लोकसभा में कांग्रेस के नेता अधीर रंजन चौधरी ने उत्तराखंड में सिल्कयारा सुरंग हादसे को लेकर केंद्र सरकार की आलोचना की। उन्होंने इस बात पर जोर दिया कि उत्तरकाशी में विनाशकारी स्थिति से बचा जा सकता था अगर सरकार ने भूवैज्ञानिकों की चेतावनियों पर ध्यान दिया होता जिन्होंने ऐसी सुरंगों से जुड़े खतरों को लेकर चेतावनी दी थी।

लोकसभा में बोलते हुए, चौधरी ने उस घटना पर प्रकाश डाला जिसमें उत्तरकाशी में सुरंग के अंदर 41 श्रमिक फंस गए थे, और इस बात पर जोर दिया कि स्थिति अभी भी देश को परेशान कर रही है। उन्होंने ढहने के लिए विशेषज्ञों द्वारा बताए गए कारणों को दोहराया, जिनमें खंडित या नाजुक चट्टान, पानी का रिसाव, भूस्खलन-प्रवण हिमालयी चट्टान प्रणाली, अपर्याप्त भूवैज्ञानिक और भू-तकनीकी अध्ययन, सीआर क्षेत्र की अनुचित जांच और एक एस्केप सुरंग डिजाइन की अनुपस्थिति शामिल है।

चौधरी ने आगे सरकार की प्रतिक्रिया की आलोचना करते हुए कहा कि फंसे हुए मजदूरों को बचाने के लिए रैट होल खनिकों को अंतिम क्षण में ही लगाया गया था। उन्होंने मीडिया के बयानों और संबंधित मंत्री द्वारा दिए गए बयानों के बीच विसंगतियों की ओर इशारा करते हुए सरकार की त्वरित और स्पष्ट प्रतिक्रिया की कमी पर असंतोष व्यक्त किया।

बता दें कि, यह घटना 12 नवंबर को हुई थी, जब महत्वाकांक्षी चार धाम ऑल वेदर रोड परियोजना के तहत निर्माणाधीन सुरंग का एक हिस्सा ढह जाने से मजदूर फंस गए थे। 400 घंटे से अधिक समय तक चले बचाव अभियान में कई चुनौतियों का सामना करना पड़ा, लेकिन टीमों ने फंसे हुए श्रमिकों को सफलतापूर्वक निकाल लिया। बचाए गए लोगों को एंबुलेंस ने सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पहुंचाया, जहां उनके आगमन के लिए 41 बिस्तरों वाला एक विशेष वार्ड तैयार किया गया था।

CBSE ने किया 10वीं और 12वीं की बोर्ड परीक्षाओं की तारीखों का ऐलान

भाड़ में जाए जम्मू कश्मीर..', 370 पर सुप्रीम फैसले को लेकर भड़के फारूक अब्दुल्ला, पंडित नेहरू पर कही ये बात

कितनी शिक्षा, क्या हैं आपराधिक मामले ! जानिए राजस्थान के नए सीएम भजनलाल के बारे में सबकुछ

रिलेटेड टॉपिक्स
- Sponsored Advert -
मध्य प्रदेश जनसम्पर्क न्यूज़ फीड  

हिंदी न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_News.xml  

इंग्लिश न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_EngNews.xml

फोटो -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_Photo.xml

- Sponsored Advert -