यूपी में नहीं थम रही साधुओं की हत्याएं, अलीगढ़ में एक और क़त्ल.., 2 साल में 20 मर्डर
यूपी में नहीं थम रही साधुओं की हत्याएं, अलीगढ़ में एक और क़त्ल.., 2 साल में 20 मर्डर
Share:

लखनऊ: उत्तर प्रदेश में साधुओं-पुजारियों की हत्याएं थमने का नाम नहीं ले रही हैं। बीते कुछ महीनों से राज्य में ऐसे केस लगातार सामने आ रहे हैं। अब अलीगढ़ में एक और साधु की निर्मम हत्या किए जाने का मामला सामने आया है। 70 वर्षीय साधु बुद्धसेन रात में ट्यूबवेल पर सो रहे थे। इसी दौरान आए अज्ञात हमलावरों ने ईंट और पत्थर से कूच-कूचकर उन्हें मार डाला। वहीं, इसके पहले जिले के ही एक मंदिर के साधु और उसके साथी का क़त्ल कर दिया गया था।

ग्रामीणों के मुताबिक, दोपहर के बाद कुछ लोग खेतों की तरफ चारा लेने गए तो बुद्धसेन को जख्मी अवस्था में पड़े हुए देखा। इसके बाद मौके  पर लोग एकत्रित गए और पुलिस को सूचना दी गई। घायल साधु को उपचार के लिए अकराबाद CHC भेजा गया, जहाँ उनकी मौत हो गई। पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए अलीगढ़ भेज दिया है। मामला जिले के विजयगढ़ थाना क्षेत्र के लाला का नगला गाँव की है। मृतक के परिवार वालों का कहना है कि बुद्धसेन ने बहुत पहले ही पारिवारिक जिंदगी छोड़ दी थी। वे बीते 7 वर्षों से राहुल गुप्ता की ट्यूबल पर सोने के लिए जाते थे। घटना के दिन भी वे सोने गए थे, मगर गाँव के ही कुछ अन्य लोगों ने उनकी लाठी-डंडों और ईंट-पत्थरों से पीट-पीटकर मार डाला था।

पुलिस ने शिकायत के आधार पर अज्ञात लोगों के खिलाफ केस दर्ज कर लिया है। पुलिस का कहना है कि आरोपितों को जल्द ही अरेस्ट कर लिया जाएगा। शिकायत के आधार पर IPC की धारा 302 के तहत मामला दर्ज किया गया है। CO का कहना है कि जल्द ही आरोपियों को अरेस्ट कर लिया जाएगा। वहीं, पश्चिमी यूपी के बरेला इलाके के परोरा गाँव में भी एक साधु का क़त्ल कर दिया गया है। बताया जा रहा है कि साधु कुँवरपाल का शव खेत से बरामद हुआ है। बता दें कि बीते कुछ समय से पूरे देश में मंदिरों में चोरी और साधुओं की हत्या की वारदातों में इजाफा हुआ है।

बता दें कि इससे पहले 13 अगस्त को भी अलीगढ़ के मंदिर में 75 वर्षीय एक साधु और उसके साथी का क़त्ल हुआ था। वहीं, 16 अगस्त को यूपी के ही ओरैया के मंदिर में तीन साधुओं को बेरहमी से मार डाला गया था। 19 अगस्त को करनाल मंदिर में 1 पुजारी, 1 साधु व 2 सेवादारों की हत्या किए जाने का मामला सामने आया था। वहीं, 20 अगस्त को प्रयागराज में एक साधु की हत्या हुई थी। इस तरह देखा जाए, तो विगत 2 वर्षों में यूपी में 20 से ज्यादा साधुओं-पुजारियों की हत्या हो चुकी है। अकेले पश्चिमी यूपी में बीते 6 महीने में 8 साधुओं का क़त्ल हो चुका है। लगातार हो रही हत्याओं से साधु समाज में दहशत फैलने लगी है। उन्होंने प्रशासन से अपराधियों पर सख्त कार्रवाई करने की मांग की है।

शादी तय नहीं हुई, तो गम भुलाने के लिए युवक ने खरीदी शराब, लेकिन पीने से पहले ही पहुँच गया जेल

गर्लफ्रेंड को घुमाने के बहाने ले गया जंगल और फिर जो हुआ...

कोलकाता: सरकारी नौकरी दिलवाने के नाम पर की ठगी, महिला सहित 3 गिरफ्तार

रिलेटेड टॉपिक्स
मध्य प्रदेश जनसम्पर्क न्यूज़ फीड  

हिंदी न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_News.xml  

इंग्लिश न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_EngNews.xml

फोटो -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_Photo.xml

- Sponsored Advert -