शिया वक़्फ़ बोर्ड में लौटे वसीम रिज़वी, यूपी सरकार ने बनाए 8 सदस्य

लखनऊ: उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार ने शिया सेंट्रल वक्फ बोर्ड के 8 सदस्यों का चयन कर दिया है. यूपी शिया सेंट्रल वक्फ बोर्ड के प्रमुख रहे वसीम रिजवी को भी मेंबर बनाया गया है. 8 सदस्यों में कुछ को सरकार की तरफ से नामित किया गया है, जबकि कुछ का चयन गवर्नर आनंदीबेन पटेल ने किया है. शिया सेंट्रल वक्फ बोर्ड के इन 8 सदस्यों का कार्यकाल 5 वर्षों का होगा. अब इन्हीं 8 सदस्यों में से एक को शिया सेंट्रल वक्फ बोर्ड का प्रमुख बनाया जाएगा. 
 
वक्फ बोर्ड के इन 8 सदस्यों में रामपुर की पूर्व बेगम नूर बानो का नाम भी शामिल है. नूर बानो आजम खान की कट्टर विरोधी मानी जाती हैं. वे कांग्रेस से सांसद भी रह चुकी हैं. बानो को निर्विरोध सदस्य पद पर चुना गया. क्योंकि उनके अलावा सांसद श्रेणी में दूसरा प्रत्याशी नहीं था. दरअसल, शिया सेंट्रल वक्फ बोर्ड में एक सांसद को सदस्य बनाया जाता है. किन्तु वर्तमान में शिया समुदाय का कोई भी सांसद नहीं है. ऐसे में पूर्व सांसद को सदस्य पद के लिए उम्मीदवारी की रियायत दी गई थी. इसके तहत नूर बानो बोर्ड की सदस्य बनीं. 

इसके साथ ही वसीम रिजवी और उनके करीबी सैयद फैज को सदस्य बनाया गया है. अन्य सदस्यों में एडवोकेट कोटे में अमरोहा के मोहम्मद जरीब जमाल रिजवी और सिद्धार्थनगर के सैयद शबाहत हुसैन का नाम शामिल हैं. लखनऊ के मौलाना रजा हुसैन और अली जैदी भी बोर्ड का सदस्य बनाया गया है. गवर्नर द्वारा जारी नोटिफिकेशन में जिला महिला अस्पताल प्रयागराज के वरिष्ठ सलाहकार नरुस हसन नकवी को भी सदस्य बनाया गया है. 

पंजाब कांग्रेस के प्रभारी बने हरीश चौधरी देंगे मंत्री पद से इस्तीफा

दक्षिण कोरिया के राष्ट्रपति मून जे-इन अगले सप्ताह यूरोप की करेंगे यात्रा

स्कूली बच्चों को यूनिफॉर्म के बदले मिलेगा पैसा.., योगी कैबिनेट में हुआ बड़ा फैसला

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -