अमेरिका ने इस एंटीबॉडी को दी मंज़ूरी

अमेरिका ने इस एंटीबॉडी को दी मंज़ूरी

दुनिया में कोरोना महामारी संकट और भी तेजी से बढ़ता जा रहा है। कई देशों के वैज्ञानिक कोविड की वैक्सीन तैयार करने में दिन रात एक कर रहे है। कोविड को लेकर विश्वभर में एंटीबॉडी ड्रग से उपचार पर चर्चा हो रही है। इस दौरान अमेरिका में कोराना के उपचार में एक एंटीबॉडी दवा के इमरजेंसी इस्तेमा को मंजूरी दी जा चुकी है। अमेरिकी स्वास्थ्य अधिकारियों ने कहा है कि एक प्रयोगात्मक एंटीबॉडी दवा रेजेनरॉन(Regeneron) या REGN-COV2 एंटीबॉडी दवा, जो कोविड से लड़ने में सहायता करती है उसके इमरजेंसी उपयोग को मंजूरी दे दी गई है। इस एंटीबॉडी दवा का उपयोग राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने पिछले महीने कोविड पॉजिटिव होने पर किया था। ट्रंप ने कहा था कि इससे उनकी रिकवरी तेज हुई।

एफडीए से मिली मंजूरी: जंहा इस बात का पता चला है कि फूड एंड ड्रग एडमिनिस्ट्रेशन(FDA) ने हॉस्पिटल में भर्ती होने और बिगड़ते हालात में हल्के से मध्यम लक्षणों वाले मरीजों को रेजेनरॉन(Regeneron) या REGN-COV2 एंटीबॉडी दवा देने को मंजूरी दी जा चुकी है। दवा को एक IV इंजेक्शन के माध्यम से उपचार के दौरान सिर्फ एक बार दिया जा सकेगा। फूड एंड ड्रग एडमिनिस्ट्रेशन(एफडीए) ने 12 वर्ष से ज्यादा आयु के वयस्कों और बच्चों में जिसके इस्तेमाल की अनुमति दी है, जिनका वजन कम से कम 88 पाउंड (40 किलोग्राम) है और जो उम्र या कुछ अन्य चिकित्सीय स्थितियों की वजह से कोविड-19 से गंभीर बीमारी के उच्च जोखिम में हैं।

एंटीबॉडी दवा रेजेनरॉन क्या है ?: मिली जानकारी के अनुसार एंटीबॉडी दवा रेजेनरॉन(Regeneron) या REGN-COV2, दो मोनोक्लोनल एंटीबॉडी का एक कांबिनेशन है। इसे खास तौर पर कोविड फैलाने वाले वायरस  SARS-CoV-2 के संक्रमण को समाप्त  करने या कम करने के लिए तैयार कर दिया गया है।

रेजेनरॉन ने बताया कि प्रारंभिक खुराक संघीय सरकार आवंटन कार्यक्रम के माध्यम से लगभग 300,000 मरीजों को उपलब्ध कराई जाने वाली है। मरीजों को इस दवा के लिए शुल्क नहीं लिया जाएगा, लेकिन IV देने की लागत का कुछ हिस्सा देना पड़ सकता है। एक तरह से ये दवा अमेरिकियों के लिए मुफ्त उपलब्ध की जाने वाली।

पीएम मोदी ने किया जल परियोजनाओं का शिलान्यास, कहा- शुद्ध पानी पहुंचने से कम हो रही बीमारियां

मामूली बात पर हुआ विवाद और दोस्त ने कर डाली दोस्त की हत्या

श्रीनगर में पड़ रही खून जमा देने वाली सर्दी, माइनस 3 डिग्री तापमान दर्ज