सीएम योगी करेंगे हिमाचली विद्यार्थियों की मदद, वाराणसी में फसे छात्रों को पहुचाएंगे उनके घर

लखनऊ: बीते कई दिनों से लगातार बढ़ता जा रहा कोरोना का कहर मासूम लोगों की जान का दुश्मन चुका है, हर दिन इस वायरस के कारण दुनियाभर में हजारों मौते हो रही है. वहीं लगातार संक्रमितों का आंकड़ा बढ़ता ही जा रह है, वहीं सरकार के द्वारा जारी किये गए लॉक डाउन की मियाद को अब और भी बढ़ा दिया गया है जंहा देशभर में फंसे अपने लोगों को वापस लाने में जुटे उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ अब 22 हिमाचली विद्यार्थियों के लिए मसीहा बने हैं. वाराणसी स्थित संपूर्णानंद संस्कृति विवि में फंसे 22 हिमाचली विद्यार्थियों को योगी ने उत्तर प्रदेश पथ परिवहन निगम की बसों से हिमाचल पहुंचाने का बीड़ा उठाया है. ये सभी विद्यार्थी पिछले डेढ़ महीने से फंसे हैं. इनके पैसे खत्म हो गए हैं.

मिली जानकारी के अनुसार प्रदेश सरकार के हेल्पलाइन नंबरों पर इन्होंने घर वापसी की इच्छा जताई थी. इसके बाद मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने वीरवार को यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ से बात की थी. मुख्यमंत्री जयराम के सहयोग के आग्रह पर योगी आदित्यनाथ ने एक कदम आगे बढ़कर इन्हें अपनी बसों से भेजने का आश्वासन दिया है. जंहा सूत्रों का कहना है कि इसके लिए सीएम जयराम ने योगी आदित्यनाथ का धन्यवाद किया है. प्रमुख सचिव मुख्यमंत्री संजय कुंडू ने बताया कि सीएम योगी के सकारात्मक रुख के बाद प्रदेश सरकार ने विद्यार्थियों की सूची संबंधित जिले के डीएम के साथ साझा की है. उम्मीद है कि जल्द ही विद्यार्थी हिमाचल पहुंच जाएंगे.

वहीं इस बात का पता चला है कि केंद्र के निर्देशों के बाद राज्य सरकार ने पहले चरण में दूसरे प्रदेशों में फंसे विद्यार्थियों की घर वापसी की कवायद शुरू की है. सरकार कोटा से 128 विद्यार्थियों को ला चुकी है. चंडीगढ़ में फंसे 840, लवली प्रोफेशन विवि व जालंधर में फंसे 31, हरियाणा से 23 नर्सिंग विद्यार्थियों को लाने के लिए संबंधित राज्यों की सरकारों व प्रशासन से संपर्क किया है. 

उज्जैन में कोरोना संक्रमितों का आकड़ा 151 पंहुचा, अब तक 27 लोगो की हुई मौत

लॉकडाउन के पहले ही घर लौट गई थी महिला नर्स, अब पॉजिटिव आई कोरोना रिपोर्ट

कोरोना से हुई मौतों का होगा ऑडिट, मौत का मूल कारण पता लगाएगा भोपाल प्रशासन

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -