सँयुक्त अरब की ग्रैंड मस्जिद में 30, 000 से अधिक रोजेदार खोलते हैं अपना रोजा

May 15 2019 11:28 AM
सँयुक्त अरब की ग्रैंड मस्जिद में 30, 000 से अधिक रोजेदार खोलते हैं अपना रोजा

सँयुक्त अरब अमीरात की शेख ज़ायद ग्रैंड मस्जिद में पूरे साल लाखों लोग देश विदेश से मस्जिद को देखने पहुँचते हैं,क्योंकि ये मस्जिद अपनी खूबसूरती को लेकर दुनियाभर में मशहूर है,और काफी बड़ी है. इन दिनों रमजान का माह चल रहा है तो यहां की बात और भी खास होती है. आपको बता दें, संयुक्त अरब अमीरात के अबुधाबी स्थित शेख जायेद ग्रेंड मस्जिद दुनिया की खुबसूरत मस्जिदों में से एक है,दुनियाभर से सेलिब्रिटी यहां पहुँचते रहते है. लेकिन रमजान में नज़ारा ही कुछ और होता है. 

बता दें, रमज़ान उल मुबारक के मुक़द्दस महीने में यहां इफ्तार का नज़ारा रूहानी रहता है और अरबों की मेहमाननवाज़ी की झलक को दर्शाता है. यहां सभी एक साथ बैठकर अपनी रोजा इफ्तारी करते हैं. शेख ज़ायद मस्जिद में इफ्तार के लिये तोप से गोला दागा जाता है जिसके बाद रोज़ेदार इफ्तार करते हैं,मस्जिद के बाहर के हिस्से में रमज़ान के मौके पर टैंट भी लगाये जाते हैं और इसके अलावा भी लम्बे लम्बे दस्तरख्वान लगते हैं जहां बैठकर रोजा खोला जाता है. 

इसके अलावा एक रिपोर्ट की मानें तो इस मस्जिद में हर रमज़ान में हर दिन तकरीबन 25000 से 30, 000  रोजादार इफ्तार करते हैं. रिपोर्ट के मुताबिक 2004 में शुरू हुई यह मस्जिद हर साल ऐसे ही इंतजामों के लिए जानी जाती है. वहीं रमज़ान के महिने में सैकड़ों स्टाफ़ खुद इफ़्तार बनाकर रोजेदारों इफ्तार कराते हैं. इफ्तार के लिए सामानों का जो आकड़ा पेश किया जा रहा है, उसे सुनकर आप चौंक जायेंगे. चिकेन से लेकर लगभग सभी सामने कवींटल में बताए जा रहे हैं.

नेकियों से मालामाल कर दोजख के दरवाजे बंद करता रमज़ान माह

मुस्लिम धर्म के लोग इसलिए नहीं खाते सूअर का मांस

नेकी की मिसाल देता 8 वां रोजा