Share:
TMC सांसद शांतनु सेन ने IT मिनिस्टर वैष्णव से छीना अहम दस्तावेज़, फाड़कर उपसभापति की ओर फेंका
TMC सांसद शांतनु सेन ने IT मिनिस्टर वैष्णव से छीना अहम दस्तावेज़, फाड़कर उपसभापति की ओर फेंका

नई दिल्लीः आज गुरुवार को संसद के उच्च सदन में राज्यसभा में हाई ड्रामा हुआ। विपक्ष ने कई मुद्दों पर विरोध प्रदर्शन किया। तृणमूल कांग्रेस (TMC) के सांसद शांतनु सेन ने इलेक्ट्रॉनिक्स और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्री अश्विनी वैष्णव से बयान पत्र छीन लिया, जब वह Pegasus जासूसी विवाद पर बोलने के लिए उठे। सेन ने वो कागज को फाड़ दिया और उपसभापति की तरफ फेंक दिया।

 

हंगामे की वजह से राज्यसभा की कार्यवाही गुरुवार को दो बार के स्थगन के बाद अंतत: पूरे दिन के लिए स्थगित कर दी गई। हंगामे की वजह से सूचना और प्रौद्योगिकी मंत्री अश्विनी वैष्णव 'पेगासस विवाद' पर अपना बयान ठीक से नहीं दे सके। उन्हें इसे सदन के पटल पर रखना पड़ा। हंगामे के कारण शून्यकाल और प्रश्नकाल भी नहीं चल पाए। सूचना प्रौद्योगिकी मंत्री अश्विनी वैष्णव कथित फोन टैपिंग के मुद्दे पर बयान देने वाले थे। जैसे ही वे बोलने के लिए खड़े हुए, विपक्षी सांसद सदन के वेल में पहुंचे और सरकार के विरुद्ध नारेबाजी शुरू कर दी। उपसभापति हरिवंश ने विरोध करने वाले सांसदों से अपनी-अपनी सीटों पर लौटने और मंत्री को अपना बयान पूरा करने का अनुरोध किया।

जैसे ही वैष्णव ने बयान देना आरंभ किया, TMC सांसद शांतनु सेन अपनी सीट पर गए और वैष्णव से कागज छीन लिया और उसे फाड़ दिया, इस प्रकार उन्हें बोलने से रोक दिया। इसके बाद राज्यसभा के उपसभापति ने सदन की कार्यवाही कल सुबह 11 बजे तक के लिए स्थगित कर दी। इससे पहले आज, विपक्षी सांसदों द्वारा पेगासस और अन्य का इस्तेमाल करके कथित तौर पर जासूसी करने के मुद्दों को उठाए जाने के बाद सदन की कार्यवाही को दो बार स्थगित कर दिया गया था।

सरकार ने बाढ़ पीड़ितों के लिए किया वित्तीय सहायता का ऐलान

फिलिस्तीन ने यूरोपीय कंपनियों से किया ये आह्वान

विपक्ष के हंगामे के चलते दो बार स्थगित हुई राज्यसभा, दैनिक भास्कर और Pegasus पर मचा बवाल

रिलेटेड टॉपिक्स
- Sponsored Advert -
मध्य प्रदेश जनसम्पर्क न्यूज़ फीड  

हिंदी न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_News.xml  

इंग्लिश न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_EngNews.xml

फोटो -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_Photo.xml

- Sponsored Advert -