तीन साल बाद गिरफ्तार विश्वासघाती सुपरवाईजर

Feb 12 2016 08:14 AM
तीन साल बाद गिरफ्तार विश्वासघाती सुपरवाईजर

रायपुर: सन 2013 में एक निजी कंपनी के संचालक ने रिपोर्ट दर्ज करवाई थी कि उसकी कम्पनी में सुपरवाईजर के पद पर कार्य कर रहे व्यक्ति ने उनके 24 लाख रूपए लेकर भाग गया है। 3 साल की फरारी के बाद फ़िलहाल आरोपी पुलिस की गिरफ्त में है। 

था 10 हजार का इनाम 

कहते है जिस थाली में खाते है उसमे कभी छेद नहीं करना चाहिए लेकिन उरला की महावीर गोल्ड प्राइवेट लिमिटेड कंपनी में सुपरवाइजर अरुण कुमार तिवारी ने ऐसा ही किया वर्ष 2013 में कंपनी के 23 लाख 80 हजार रुपए लेकर फरार हो गया था। कंपनी संचालक की रिपोर्ट पर पुलिस ने धोखाधड़ी का मामला दर्ज कर लिया था तथा उसकी तलाश शुरू कर दी लेकिन पुलिस उसे पकड़ने में नाकामयाब रही बाद में जब उसका कोई सुराग नहीं मिला तब एसपी ने उस पर 10 हजार रुपए का इनाम घोषित कर दिया। 

हाल में किसी के द्वारा पुलिस को सुचना मिली की वह उप्र के फतेहपुर में रह रहा है तभी पुलिस का एक जत्था फतेहपुर अरुण की गिरफ़्तारी के लिए भेजा गया एक बड़ी मशक्कत और यूपी पुलिस की मदद से आखिर तीन साल से फरार आरोपी  न्यू शांतिनगर निवासी अरुण कुमार तिवारी को घेराबंदी कर गिरफ्तार कर लिया गया और गुरुवार को पुलिस की टीम उसे लेकर रायपुर पहुच गई।