मलेरिया जांच के लिए अब ये टेस्ट होगा प्रतिबंधित

भोपाल: सरकारी और निजी अस्पतालों में अब एंटी बॉडी बेस्ड आरडी किट से मलेरिया का एंटी बॉडी टेस्ट नहीं होगा. प्रतिबंध की वजह, 100 में से 50 मरीजों की जांच रिपोर्ट गलत आना है. साथ ही सभी राज्यों के स्टेट ड्रग कंट्रोलर्स ओर डायरेक्टर मलेरिया को मलेरिया बुखार के लक्षणों वाले मरीजों की जांच एंटीजन बेस्ड से करने के निर्देश दिए हैं. अब इस टेस्ट के बाद स्लाइड बनाकर माइक्रोस्कोप से जांच होगी. जिससे की मलेरिया के मरीजों को बिमारी की सटीक जानकारी उपलब्ध हो सकेगी. 

जानकारी के अनुसार अस्पतालों के डॉक्टर्स मलेरिया बुखार के मरीज की बीमारी पता करने सबसे पहले मलेरिया का एंटी बॉडी बेस्ड आरडी किट से टेस्ट लगाते हैं. इससे हुई जांच में उन मरीजों की जांच रिपोर्ट भी मलेरिया पॉजिटिव आ रही थी, जिन्हें हकीकत में वायरल फीवर था. स्वास्थ्य विभाग के अफसरों का कहना है कि आरडी कीट में एंटीजन के पकड़ में नहीं आने के बाद अब स्लाइड बनाकर माइक्रोस्कोप से ही इसकी जांच के लिए एकमात्र रास्ता बचता है. इससे जांच के लिए प्रशिक्षित टेक्नीशियनों की जरूरत होगी. वर्तमान में सरकारी हास्पिटलों में ही टेक्नीशियनों की कमी है.

भोपाल की 200 झुग्गियों में भीषण आग

अब मध्य प्रदेश में भी अंबेडकर की मूर्ति तोड़ी गई

सीएम योगी ने 49 पुलिसकर्मियों को वीरता पुरस्कार से किया सम्मानित

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -