जल्द ही WhatsApp पर बंद होने जा रही है ये सुविधाएं, जारी हुए नए नियम

इंस्टैंट मैसेजिंग प्लेटफॉर्म WhatsApp का उपयोग बड़ी संख्या में लोग कर रहे है। इंडिया में ही इसके सक्रीय यूजर्स की संख्या 40 करोड़ से अधिक है। क्या हो यदि कल से आपको WhatsApp यूज करने के लिए पैसे देने पड़ जाएंगे। इस बात के अनुमान नए टेलीकॉम बिल के ड्रॉफ्ट के बाद से लगाए जाने लगे है। सरकार ने Indian Telecommunication Bill, 2022 का ड्राफ्ट तैयार कर लिया है। 

बिल का ड्राफ्ट सभी के लिए दूरसंचार विभाग की वेबसाइट पर पेश किया जा चुका है। इसके साथ ही विभाग ने बिल पर इंडस्ट्री के सुझाव भी मांगने लगे है। अगर बिल पास होता है तो दूरसंचार विभाग इसके हिसाब से चलने वाला है । Indian Telecommunication Bill, 2022 के ड्राफ्ट में कई नई चीजें शामिल की जा चुकी है। 

लेना होगा टेलीकॉम लाइसेंस: जिसके अनुसार  WhatsApp, Skype, Zoom, Telegram और Google Duo जैसे कॉलिंग और मैसेजिंग सर्विस ऐप्स को अब लाइसेंस लेना पड़ेगा। इन्हें इंडिया में ऑपरेट करने के लिए टेलीकॉम कंपनियों की तरह ही लाइसेंस की आवश्यकता होने वाली है। वहीं OTT प्लेटफॉर्म्स को भी नए टेलीकम्युनिकेशन बिल में शामिल भी किया जा चुका है। 

इसके उपरांत से ही अनुमान लगाए जा रहे हैं कि WhatsApp Calling और दूसरे ऐप्स के लिए लोगों को फीस देनी पड़ेगा। क्योंकि इन ऐप्स को ऑपरेशन के लिए अब लाइसेंस की आवश्यकता है। हालांकि, यह लाइसेंस कैसे मिलेगा और WhatsApp सहित दूसरे ऐप्स के लिए कितने पैसे खर्च करने होंगे इस पर कोई जानकारी नहीं है। 

क्या हैं लाइसेंस को लेकर प्रावधान?: गवर्नमेंट ने इस बिल में लाइसेंस फीस को लेकर भी कुछ प्रावधान जोड़ दिए गए है। जिसके उपरांत सरकार के पास अधिकार है कि वह लाइसेंस फीस को आंशिक या पूरी तरह से माफ करने वाली है। जिसके साथ ही रिफंड का भी प्रावधान जोड़ा गया है। अगर कोई टेलीकॉम या इंटरनेट प्रोवाइडर अपना लाइसेंस सरेंडर करता है, तो उसे रिफंड मिल जाएगा। 

इंडियन टेलीकॉम बिल 2022 पर सरकार ने मांगे यूजर्स के उनके विचार

इंस्टाग्राम के डाउन होने से परेशान यूजर्स, भर भरकर कर रहे शिकायत

होटल, पब्लिक टॉयलेट या चेंजिंग रूम में रहें सावधान, इस तरह चेक करें खुफिया कैमरा है या नहीं

न्यूज ट्रैक वीडियो

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -