महिला पहलवानों के लिए हज हाउस बना खतरा, संघ ने टाला कैंप

Jul 31 2020 04:57 PM
महिला पहलवानों के लिए हज हाउस बना खतरा, संघ ने टाला कैंप

उतर प्रदेश सरकार की तरफ से कानपुर रोड स्थित साई सेंटर के बिल्कुल नजदीक लगे हज हाउस को पांच सौ बेड का कोरोना कोरेंटाइन केंद्र बनाना महिला पहलवानों का खौफ बन गया है. टोक्यो ओलंपिक की तैयारियों के लिए भारतीय कुश्ती संघ और साई  अगस्त महीने में महिला पहलवानों का कैंप लखनऊ के साई केंद्र में लगाना चाहता है, लेकिन वे इस बात के लिए रेडी नहीं है.

महिला पहलवानों के मन में यह डर आ गया कि अगर वे कैंप में शामिल होती है तो केंद्र के बिल्कुल पास लगे हज हाउस के वजह से कोरोना की चपेट में आ सकती है. यही वजह है कि कुश्ती संघ और साई ने एक बार फिर पहलवानों के कैंप को टाल दिया है. 

लखनऊ के साई केंद्र और हज हाउस की दीवार एक साथ लगती है. महिला पहलवानों का कैंप पिछले कई वर्षों से इसी केंद्र में लगता है. उन्हें कभी भी हज हाउस से कोई दिक्कत नहीं हुई, लेकिन इस बार उनके मन में डर बैठ गया है. इस बारें में एक महिला पहलवान का बोलना है कि लखनऊ कैंप में मौजूद होने से अच्छा है कि वह अपने निवास पर तैयारियां करें. उन्हें पता लगा है कि हज हाउस में बड़े तादाद में कोरोना के मरीज एकांतवास में रखे गए हैं. हज हाउस केंद्र से बिल्कुल लगा हुआ है. ऐसे में उनके मन में खौफ है कि कहीं न कहीं उन्हें भी कोरोना संक्रमण न हो जाए.  

विश्वनाथन आनंद की लगातार हुई हार, आठ हार के साथ नौवें स्थान पर रहे

मैक्सिको की गोल्फर गैबी लोपेज को हुआ कोरोना, एलपीजीए प्रतियोगिता से हटी

National Sports Day 2020: कोरोना के वजह से खेल दिवस पर नहीं हो सकता है पुरस्कार समारोह