नगरोटा एनकाउंटर: 200 मीटर लंबी सुरंग के जरिए भारत में घुसे थे आतंकी, BSF को मिले सबूत

श्रीनगर: बॉर्डर सिक्योरिटी फ़ोर्स (BSF) को इस बात के पुख्ता प्रमाण मिले हैं कि 19 नवंबर के नगरोटा एनकाउंटर में मारे गए चार जैश-ए-मोहम्मद (JeM) के आतंकवादी वास्तव में 200 मीटर लंबी सुरंग के माध्यम से पाकिस्तान से जम्मू-कश्मीर में दाखिल हुए थे। बताया गया है कि आंतकवादियों ने पेशवेर रूप से 200 मीटर लंबी और 8-मीटर गहरी एक सुरंग तैयार की थी जिसके माध्यम से वो अंतरराष्ट्रीय सीमा से भारत के इलाके में घुस आए थे।

सुरंग की जगह, भारतीय छोर पर 12-14 इंच के व्यास की थी, जो अंतर्राष्ट्रीय सीमा से तक़रीबन 160 मीटर लंबा था और ऐसा अनुमान है कि पाकिस्तानी बॉर्डर पर ये तक़रीबन 40 मीटर लंबा था। बड़े सुरक्षा अधिकारियों के मुताबिक, सुरंग को नए सिरे से खोदा गया था और पहली बार चार जैश आत्मघाती हमलावरों ने इसका उपयोग किया गया था। आतंकवाद निरोधक अधिकारी ने कहा कि ऐसा लगता है कि सुरंग के निर्माण के लिए इंजीनियरिंग की उचित कोशिश की गई है और इसमें पेशवरी का हाथ काफी स्पष्ट है।

आतंकवादियों के पास ताइवान निर्मित हाथ में पकड़ने वाला एक GPS डिवाइस था, जिसकी सहायता से वो भारत की सीमा में घुसे, भारतीयों एजेंसियों और BSF ने उस डिवाइस की सहायता से आतंकवादियों को ट्रैक किया। आतंकवादी सुरंग पार करके सीमा के 12 किलोमीटर तक भीतर आ गए और एक ट्रक में सवार हुए। आतंकवादियों ने सुरक्षा बलों द्वारा मारे जाने से पहले GPS डिवाइस के डेटा को नष्ट करने का पूरा प्रयास किया, लेकिन डेटा बरामद कर लिया गया था। 

पिछले 4 दिनों से लगातार बढ़ रहे पेट्रोल-डीजल के भाव, आज इतनी हुई कीमतें

वर्ष 2000 में हुई थी नेशनल अडॉप्शन डे की स्थापना

उमंग के 3 साल पुरे, ऐप का इंटरनेशनल वर्जन हुआ लॉन्च

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -