Swift को NCAP क्रैश टेस्ट में नहीं मिली एक भी अच्छी रेटिंग, टाटा मोटर्स ने मारुती को किया ट्रोल

टाटा मोटर्स को हमेशा ही उसकी मजबूत गाड़ियों के लिए पहचाना जाता है. ऐसे में कंपनी ने एक बार फिर सुरक्षा को लेकर विरोधी कंपनी पर हमला कर दिया है, जी हां इस बार लिस्ट में टाटा की स्विफ्ट कार का नाम शामिल है. टाटा की स्विफ्ट कार को हाल ही में लैटिन NCAP क्रैश टेस्ट में 0 स्टार दिए गए है. टाटा मोटर्स ने ऐसे में सोशल मीडिया पर इस चीज को हाईलाइट कर मारुति को ट्रोल किया जा रहा है. कंपनी ने बोला है कि, उसके द्वारा बनाई जा रही गाड़ियां आज भी भारतीय सड़कों पर सबसे सुरक्षित कारों में से एक हैं.

टाटा मोटर्स ने सोशल मीडिया पर पोस्ट करते हुए बोला है कि  लेटेस्ट NCAP टेस्ट में साफ नज़र आ रहा है कि, Swift’ly को राइड करना सुरक्षित नहीं है. कंपनी ने सीधे तौर पर यहां स्विफ्ट को टारगेट किया जो मारुती की तरफ से एक प्रीमियम हैचबैक है. वहीं गाड़ी के सेल्स आंकड़े भी बहुत  ही अच्छे हैं.

टाटा हमेशा करता है ट्रोल: जहां इस बात का पता चला है कि ऐसा पहली बार नहीं हुआ है जब टाटा मोटर्स ने खराब सेफ्टी स्टैंडर्ड्स के लिए प्रतिद्वंद्वियों पर कटाक्ष किया है. बीते वर्ष नवंबर में, टाटा मोटर्स ने मारुति एस-प्रेसो पर एक कड़ी चोट की थी, जो भी बुरी तरह से विफल रही थी और ग्लोबल NCP क्रैश टेस्ट में शून्य स्टार रेटिंग के साथ वापस लौटी थी. NCAP टेस्ट के मुताबिक Tata Motors इंडिया  में कुछ सबसे सुरक्षित कारों की बात करती है. इसमें नेक्सॉन और अल्ट्रोज जैसी कारें मौजूद हैं, जिन्हें ग्लोबल NCAP से फाइव-स्टार क्रैश रेटिंग मिली है, जबकि इसकी एंट्री-लेवल पेशकश टियागो ने पहले चार स्टार प्राप्त हो चुके है.

स्विफ्ट हैचबैक और फ्रेंच ऑटो दिग्गज रेनॉ की हाल ही में लॉन्च की गई डस्टर SUV ग्लोबल NCAP के दक्षिण अमेरिका के सहयोगी लैटिन NCAP द्वारा किए गए हालिया क्रैश टेस्ट में असफल रही है. स्विफ्ट और डस्टर दोनों क्रैश टेस्ट एजेंसी के लैटिन अमेरिका और कैरिबियन के लिए न्यू कार असेसमेंट प्रोग्राम के अंतर्गत किए गए थे. क्रैश टेस्ट के उपरांत दोनों कारें निराशाजनक शून्य स्टार्स के साथ लौटीं.

क्रैश टेस्ट के लिए इस्तेमाल किया गया स्विफ्ट मॉडल स्टैंडर्ड के रूप में 2 एयरबैग से लैस था. क्रैश टेस्ट के लिए उपयोग की गई Swift लगभग सभी कैटेगरी में खराब साबित हुई है. इसने एडल्ट ऑक्यूपेंट बॉक्स में 15.53%, चाइल्ड ऑक्यूपेंट बॉक्स में 0%, पैदल यात्री सुरक्षा और कमजोर सड़क यूजर्स बॉक्स में 66.07% और सेफ्टी असिस्ट बॉक्स में 6.98% स्कोर बनाया है.

देश में बिकने वाली Swift में डुअल एयरबैग स्टैंडर्ड हैं. हालांकि, यूरोप में बेचा जाने वाला मॉडल स्टैंडर्ड के रूप में 6 एयरबैग और इलेक्ट्रॉनिक स्टैबिलिटी कंट्रोल (ESC) से लैस है. संयोग से स्विफ्ट ने दो साल पहले ग्लोबल एनसीएपी क्रैश टेस्ट में टू-स्टार रेटिंग के साथ रिटर्न किया गया था.

गर्भवती महिलाओं के लिए अमित शाह ने की 'लड्डू वितरण योजना' की शुरुआत, प्रतिमाह मिलेंगे 15 लड्डू

एस्कॉर्ट सर्विस देने के नाम पर करते थे ब्लैकमेल, पुलिस ने इस तरह किया पर्दाफाश

श्री बालाजी के पास जीप और ट्रेलर की जबरदस्त भिड़ंत, 11 लोगों की दर्दनाक मौत... 7 घायल

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -