टाटा को महंगा पड़ा लोगो का इस्तेमाल

टाटा को महंगा पड़ा लोगो का इस्तेमाल

मुंबई : कही ऐसा भी होता है क्या कि आपका लोगो ही आपके लिए मुसीबत का सबब बन जाए. लेकिन हम आपको बता दे कि टाटा संस का लोगो ही उसके लिए मुसीबत बन गया है. हाल ही में महाराष्ट्र सेल्स टैक्स डिपार्टमेंट ने टाटा से 300 करोड़ रूपये की मांग की है. डिपार्टमेंट ने यह कहा है कि ग्रुप की सभी कंपनियां इस लोगो का ही इस्तेमाल कर रही है और इसके लिए रॉयल्टी प्राप्त होती है. इस मामले में दलील को बम्बई हाई कोर्ट ने भी सही बताया है.

बताया जा रहा है कि 1998 में टाटा संस और ग्रुप की कम्पनियों में इस लोगो के इस्तेमाल को लेकर करार हुआ था. लेकिन कम्पनियों को इस लोगो के इस्तेमाल के लिए रॉयल्टी देना पड़ती है. इसी वजह को मुख्य बताते हुए डिपार्टमेंट ने 1998 से लेकर 2002 तक का टैक्स माँगा है. इस मामले में टाटा संस ने भी सुप्रीम कोर्ट में चुनौती पेश की है और इसके लिए 11 सितम्बर को सुनवाई होना है.