नौकरी का झांसा देकर हत्या कर देता ये तांत्रिक

ग्वालियर : तांत्रिक बनकर बेरोजगार युवको को नौकरी का झांसा देकर पैसे टंगे और उनकी हत्या करने का मामला सामने आया है। पुलिस ने इस सनसनीखेज वारदात का पर्दाफाश करते हुए आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है । पूछताछ में आरोपी ने 6 हत्याएं कराना स्वीकारा है, इनमें से अब तक 4 की शिनाख्त की जा चुकी है, और कई मामलों की जांच जारी है। बता दे कि शुक्रवार को ग्वालियर के गुडागुडी नाके से शिवपुरी के खनियाधाना निवासी वनमाली जोशी को गिरफ्तार किया गया।

पूछताछ में वनमाली ने बताया कि वह युवकों को नौकरी का लालच देकर उनसे 5-10 हजार रुपए बसूलता था, और फिर मौका देख उनके सिर पर पत्थर पटक हत्या कर देता था। 2007 में 5 हजार रुपए के लेनदेन पर एक युवक की हत्या करने के बाद वनमाली जेल गया और वहीं से बाद में जमानत पर छूटा। 2007 के दिसंबर माह में वनमाली गांव-गांव जाकर मसाले बेचता था। इसी दौरान उसका परिचय ग्राम काला पहाड़ी थाना खनियांधाना के मुलायम पाल से हुआ जिसे वह 5 हजार रुपए में फैक्ट्री में नौकरी लगवाने का लालच देकर अपने साथ मुंगावली ले गया। मुंगावली के पास गुनेरु रेलवे स्टेशन से 2 किमी दूर उसने मुलायम पाल के सिर पर पत्थर पटककर हत्या कर दी, और उसकी जेब में रखे 5 हजार रुपए निकाल लिए। इस मामले में इस मामले में मृतक और आरोपी दोनों ही अज्ञात थे। इसी की छानबीन में शिवपुरी पुलिस के हत्थे वनमाली चढ़ गया।

2008 में ग्राम भोंरट थाना खनियांधाना के सूरज जाटव की भी नौकरी लगवाने का लालच देकर पिछोर के पास उसकी हत्या कर दी थी, और उसकी जेब से भी 5 हजार रुपए लेकर वनमाली चंपत हो गया था। इस अपराध में गिरफ्तार आरोपी वनमाली जोशी को न्यायालय से जमानत मिली और वह ग्वालियर में जाकर बस गया था। दिखाने के लिए वनमाली मजदूरी करता था, लेकिन इसी दौरान उसने नौकरी के झांसे में लेकर युवकों की हत्या का सिलसिला शुरू कर दिया। ग्वालियर रहकर वह पंडिताई करने लगा, और भगवावेश धारण कर वह भोलेभाले ग्रामीणों को फैक्ट्री में नौकरी लगाने का लालच देकर उनसे 5 से 10 हजार रुपए लेने लगा। पुलिस इस मामले में आरोपी और भी पूछताछ कर रही है। पुलिस को आशंका है कि और भी अन्य संगीन वारदात का खुलासा हो सकता है।

Most Popular

- Sponsored Advert -