राजीव गांधी के हत्यारे के गांव में मना जश्न, पेरारिवलन की रिहाई पर बांटे गए लड्डू

चेन्नई: पूर्व पीएम राजीव गांधी के कातिल ए जी पेरारिवलन को बुधवार को शीर्ष अदालत ने जेल से रिहा कर दिया. अदालत के फैसले पर एक तरफ जमकर सियासत हो रही है, वहीं आदेश के बाद तमिलनाडु के जोलारपेट्टई (Jolarpettai) शहर में जश्न मनाया जा रहा है. यहां पेरारिवलन का परिवार रहता है, जो उसकी रिहाई की खबर सुनकर बेहद खुश है. पेरारिवलन जो खुद जमानत पर बाहर है, उसने भी रिहाई मिलने पर राहत की सांस ली है. 

कांग्रेस और भाजपा ने भले इसका विरोध किया हो, मगर तमिलनाडु में सत्ताधारी DMK और विपक्षी दल AIADMK दोनों से इसका विरोध नहीं किया. कांग्रेस ने तो इस फैसले के खिलाफ विरोध प्रदर्शन तक की घोषणा कर दी है. कांग्रेस प्रदेश इकाई के अध्यक्ष एस अलागिरी ने कहा कि वह सर्वोच्च न्यायालय के फैसले की आलोचना नहीं करना चाहते, मगर यह अवश्य कहेंगे कि वे (सभी सात दोषी) कातिल थे, कोई बेगुनाह नहीं. पेरारिवलन की रिहाई के आदेश के बाद उनके शहर में जश्न मनाया जा रहा था. वहां लड्डू बांटे गए. साथ ही पेरारिवलन ने Parai (एक तरह का ड्रम) भी बजाया.

पेरारिवलन ने रिहाई के आदेश के बाद तमिलनाडु के मुख्यमंत्री स्टालिन से मुलाकात भी की थी. इस दौरान पेरारिवलन की मां भी उनके साथ थी. स्टालिन ने बाद में कहा था कि सातों दोषियों को रिहा कराने की मांग उनके घोषणापत्र में थी. हालांकि, AIADMK का कहना है कि पेरारिवलन कि रिहाई पूर्व मुख्यमंत्री जयललिता के प्रयासों के कारण ही हो पाई है.

दिल्ली: मुस्तफाबाद की एक फैक्ट्री में भड़की भीषण आग, 1 शख्स की झुलसकर मौत

महाराष्ट्र में जुवेनाइल बोर्ड ने ISIS आतंकी को कर दिया रिहा, दिया हैरान करने वाला आदेश

नवजोत सिंह सिद्धू को 1 साल की जेल, 34 साल पुराने केस में सुप्रीम कोर्ट ने सुनाई सजा

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -