प्रियंका बोलीं- 'कश्मीरी भाई-बहनों पर बढ़ते हमले खतरनाक', नेटीजेंस ने याद दिलाया 1990 का नरसंहार

नई दिल्ली: कांग्रेस पार्टी की राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने जम्मू-कश्मीर में बीते कुछ दिनों के अंदर आतंकियों द्वारा सात नागरिकों की हत्या किए जाने की कड़े शब्दों में निंदा की। उन्होंने शुक्रवार को कहा कि केंद्र सरकार को जम्मू कश्मीर के निवासियों की सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए फ़ौरन कदम उठाना चाहिए। प्रियंका ने ट्वीट करते हुए लिखा कि, 'आतंकियों द्वारा हमारे कश्मीरी बहनों-भाइयों पर बढ़ते हमले दर्दनाक और निंदनीय हैं। इस मुश्किल घड़ी में हम सब अपने कश्मीरी बहनों-भाइयों के साथ हैं।'

प्रियंका गांधी ने जोर देते हुए कहा कि, 'केंद्र सरकार को तत्काल सख्त कदम उठाकर सभी नागरिकों की सुरक्षा सुनिश्चित करनी चाहिए।' वहीं प्रियंका के इस ट्वीट पर कुछ यूज़र्स ने उनपर निशाना साधते हुए कहा है कि क्या आप लखीमपुर की तरह कश्मीर में भी सांत्वना देने जाएंगी।  राजेंद्र कुमार ने लिखा है कि, 'आप वहां (कश्मीर) जाकर पीड़ितों के परिवार से क्यों नहीं मिलतीं? शायद वहां आपको लखीमपुर की तरह वोट नहीं मिलेंगे।' वहीं रश्मि यादव ने लिखा कि, 'निकम्मी कांग्रेस की नकारा नीतियों का खामियाजा आज भी कश्मीर के लोग भुगत रहे हैं, 1990 में जब कश्मीर के लोगों पर अलगाववादियों के समर्थन से कट्टरपंथी कहर बरपा रहे थे तब गांधी परिवार मूकदर्शक बना हुआ था औऱ आज भी बना हुआ है, क्या प्रियंका आप वहां नहीं जाएंगी लोगों का दर्द बांटने।' 

बता दें कि जम्मू-कश्मीर में आम नागरिकों पर बढ़े हमलों के बीच श्रीनगर के ईदगाह इलाके में गुरुवार को आतंकियों ने एक महिला प्रधानाध्यापक सहित सरकारी विद्यालय के दो शिक्षकों की गोली मार कर हत्या कर दी थी। बीते पांच दिनों में घाटी में सात नागरिकों की हत्या की गई है, जिनमें से छह की हत्या शहर में हुई है।

आम आदमी पार्टी को लगा झटका! भाजपा में लौटे ये वरिष्ठ नेता

यूपी सरकार का अहम फैसला, नदियों और धार्मिक स्थलों के नाम पर रखा गेस्ट हाउस का नाम

आतंकियों द्वारा निर्दोषों की हत्या पर सीएम चन्नी ने जताया दुःख, लोग बोले- क्या राहुल-प्रियंका कश्मीर जाएंगे ?

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -