उज्जैन सिंहस्थ: 11 मई को होगा दलित साधु-संतो का स्नान

उज्जैन: आरएसएस और भाजपा द्वारा 11  मई को उज्जैन सिंहस्थ में दलित साधु-संतो के लिए अलग से स्नान करने का आयोजन किया जा रहा है, जिसके बाद  कुछ सामाजिक संगठनों एवं शंकराचार्यों और अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद की ओर से इसका विरोध किया जा रहा है.

जगद्‌गुरु शंकराचार्य स्वरूपानंद सरस्वती द्वारा इस आयोजन को भाजपा की नौटंकी करार दिया गया है, अमरकंटक के प्रमुख संत कल्याणदासजी महाराज ने कहा- "मैं लगातार छह सिंहस्थ से उज्जैन आ रहा हूं, ऐसा पहले कभी नहीं हुआ, दलित स्नान का आयोजन बकवास है। कोई भी साधु से उसकी जाति या वर्ण नहीं पूछता है."

वही दूसरी और संघ और भाजपा द्वारा देश भर के देश के दलित संतों को सिंहस्थ के लिए न्योता भेज जा चुका है, आरएसएस से संग्लग्न संस्था 'पंडित दीनदयाल विचार प्रकाशन' द्वारा 11 मई को समरसता स्नान और शबरी स्नान का आयोजन किया जा रहा है.

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -