Share:
Silver Leaf Disease: कोरोना के बाद नई आफत, भारत में मिला पहला केस, WHO भेजे गए सैंपल
Silver Leaf Disease: कोरोना के बाद नई आफत, भारत में मिला पहला केस, WHO भेजे गए सैंपल

नई दिल्ली: कोरोना महामारी के बाद अब एक और अजीबोगरीब बीमारी ने दुनियाभर को चिंता में डाल दिया है. इस बीमारी का नाम सिल्वर लीफ (Silver Leaf Disease) है, जिससे एक भारतीय किसान संक्रमित पाया गया है. ये बीमारी पौधों के लिए बेहद घातक मानी जाती है. रिपोर्ट के मुताबिक, मशरूम का उत्पादन करने वाले 61 साल के किसान को फ्लू जैसे लक्षण हो रहे थे. पिछले सप्ताह ही कैंडिडा ऑरिस फंगस को लेकर अमेरिकी स्वास्थ्य अधिकारियों की तरफ से चेतावनी दी गई थी. स्वास्थ्य अधिकारियों के अनुसार, यह बीमारी हाल के सालों में 3 गुणा तक बढ़ चुकी है.

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, कोंड्रोस्टेरियम परप्यूरियम के संबंध में तब पता चला, जब सर्जन्स ने पस सैंपल को टेस्ट के लिए भेजा. रिपोर्ट्स की मानें तो सिल्वर लीफ बीमारी पौधों को शिकार बनाती है, जिससे पौधों के पत्तों का रंग बदलने लगता है. ऐसा माना जा रहा है कि मोल्ड्स, यीस्ट और मशरूम के साथ संपर्क बनाने की वजह से किसान बीमार हुआ है. मरीज का उपचार करने वाले डॉक्टरों का कहना है कि, ये शख्स पौधों में मिलने वाले कई प्रकार के फंगस के संपर्क में आया था. ये बीमारी स्वस्थ लोगों को भी आसानी से संक्रमित कर सकती है.

रिपोर्ट्स के अनुसार, मरीज को लंबे समय से निगलने में समस्या हो रही थी. उसे निरंतर थकान और आवाज भारी होने जैसी दिक्कतें हो रही थीं. मरीज को इन दिक्कतों से छुटकारा पाने के लिए तीन माह का वक़्त लग गया. हालांकि, मरीज को किसी प्रकार की कोई हेल्थ रिस्क नहीं था. मरीज का चेस्ट एक्स रे भी करवाया गया, जिसका रिजल्ट सामान्य था. हालांकि, सीटी स्कैन से खुलासा हुआ कि व्यक्ति की गर्दन में पैराट्रैकियल संक्रमण है. चिकित्सकों का कहना है कि, यह बीमारी इसके संपर्क में आने वाले 60 प्रतिशत लोगों को मार सकती हैं. मरीज का उपचार करने वाले डॉक्टर्स ने केस पेपर्स WHO को भी भेजे. मरीज के शुरुआती स्कैन में विंड पाइप (श्वास नली) संक्रमण पाया गया था. स्थानीय शोधकर्ताओं ने इसे कोंड्रोस्टेरियम परप्यूरियम का नाम दिया है.

अब दिल्ली से पलायन को मजबूर हुए हिन्दू, बोले- घरों में फेंक देते हैं खून, गृह मंत्री को लिखा पत्र

बंगाल दंगों की 'सच्चाई' क्यों छुपा रही ममता सरकार ? पूर्व चीफ जस्टिस को पीड़ितों से मिलने से रोका

'डरे हुए, लालची..', अडानी मुद्दे पर नहीं दिया कांग्रेस का साथ, तो शरद पवार को सुनना पड़ा ये सब

रिलेटेड टॉपिक्स
- Sponsored Advert -
मध्य प्रदेश जनसम्पर्क न्यूज़ फीड  

हिंदी न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_News.xml  

इंग्लिश न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_EngNews.xml

फोटो -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_Photo.xml

- Sponsored Advert -