संयुक्त राष्ट्र में मुस्लिमों के नाम पर रो रहा था पाकिस्तान, भारत ने दिया मुंहतोड़ जवाब

जेनेवा: भारत ने संयुक्त राष्ट्र (UN) में अल्पसंख्यकों के मसले पर पाकिस्तान की बोलती बंद कर दी है। संयुक्त राष्ट्र में भारत के संयुक्त सचिव श्रीनिवास गोत्रु ने पाकिस्तान को घेरते हुए कहा कि अल्पसंख्यकों के अधिकारों पर ज्ञान देने वाला पाकिस्तान खुद नियमों का उल्लंघन करता रहा है। दरअसल, अल्पसंख्यकों के मसले पर सभी प्रतिनिधि अपने देश का दृष्टिकोण पेश कर रहे थे। जब पाकिस्तान की बारी आई, तो वहां के विदेश मंत्री बिलावल भुट्टो जरदारी ने अपने देश से अधिक भारत के बारे में बयानबाज़ी की और कहा कि भारत में तो इस्लामोफिबिया है। उन्होंने इस दौरान कश्मीर का भी राग अलापा।

उनकी इस टिप्पणी पर प्रतिक्रिया देते हुए श्रीनिवास गोत्रु ने कहा कि कितनी विचित्र बात है कि अल्पसंख्यकों का मुद्दा उठाने वाला पाकिस्तान खुद हिन्दुओं और सिखों जैसे अल्पसंख्यकों के अधिकारों का हनन करता रहा है और वह इस्लामोफिबिया जैसे लफ्जों का उपयोग कर रहा है। उन्होंने कहा कि पाकिस्तान में अल्पसंख्यक समाज की लड़कियों का किडनैप, जबरन निकाह और धर्मांतरण के मामले जगजाहिर हैं। संयुक्त सचिव ने यह भी कहा कि भारत में अल्पसंख्यकों के कल्याण के लिए अलग से एक मंत्रालय है, जिसका काम ही धार्मिक और भाषाई अल्पसंख्यकों के हितों की रक्षा करना है।

उन्होंने आगे कहा कि उन्हें उस प्रतिनिधिमंडल का जवाब देने के लिए मजबूर होना पड़ा है, जिसने भारत के खिलाफ झूठे इल्जाम लगाकर संयुक्त राष्ट्र के मंच का दुरुपयोग किया है। श्रीनिवास ने कहा कि पाकिस्तान ने अल्पसंख्यकों के साथ जो किया है, वो सब जानते हैं। वहां सिखों, हिंदुओं, ईसाईयों और अहमदियों जैसे अल्पसंख्यकों के अधिकारों का लगातार हनन किया जा रहा है। उन्होंने कश्मीर के मुद्दे पर पाकिस्तान पर पलटवार करते हुए कहा है कि, 'जम्मू और कश्मीर भारत का एक अभिन्न और अविभाज्य अंग हैं। हम पाकिस्तान से बॉर्डर पार आतंकवाद को रोकने के लिए कहते हैं ताकि हमारे नागरिक अपने जीवन और स्वतंत्रता के अधिकार का इस्तेमाल कर सकें। हमें उम्मीद है कि वे इस प्रकार की बैठकों का दुरुपयोग और राजनीतिकरण करने की कोशिश नहीं करेंगे।'

बता दें कि संयुक्त राष्ट्र में पाकिस्तानी विदेश मंत्री बिलावल भुट्टो ने भारत पर टिप्पणी करते हुए कहा था कि भारत एक हिंदू राष्ट्र में बदल रहा है। बिलावल ने कहा कि, 'आज इस प्रकार के इस्लामोफोबिया के सबसे खराब उदाहरण में से एक हिंदुत्व से प्रेरित भारत में है। मुसलमानों के विरुद्ध नफरत की विचारधारा से प्रेरित, (सत्तारूढ़) भाजपा-RSS शासन भारत की इस्लामी विरासत को खत्म कर हिंदु राष्ट्र में तब्दील कर के लिए अपनी सदियों पुरानी योजना को क्रियान्वित कर रहा है।' भुट्टो के इसी बयान पर भारत ने मुंहतोड़ जवाब दिया। 

पुतिन के ऐलान के बाद रूस में मची भगदड़, लोगों को नहीं मिल रहे फ्लाइट के टिकट

मेक्सिको के बार में अंधाधुंध गोलीबारी, 10 लोगों की मौत, कई घायल

ISI एजेंट लाल मोहम्मद की हत्या, पिता को बचाने के लिए छत से कूदी बेटी

 

न्यूज ट्रैक वीडियो

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -