कश्मीर में लहराए पाकिस्तानी झंडे, निशाने पर मोदी सरकार

श्रीनगर : राज्य सरकार की तमाम कोशिशो के बावजूद बुधवार को अलगावादियों ने जम्मू-कश्मीर की राजधानी श्रीनगर में पाकिस्तान का झंडा लहराया और भारत विरोधी नारे लगाए. यह सब मीरवाइज उमर फारूख की रैली में हुआ है. बता दे कि लगभग एक महीने पहले सैयद अली शाह गिलानी की रैली में भी कुछ ऐसा ही नजारा देखने को मिला था. बता दे कि रैली का आयोजन मीरवाइज उमर फारूख ने अपने पिता मीरवाइज मौलवी फारूख की बरसी के लिए किया था.

इस दौरान अलगावादी नेता के समर्थकों ने हुर्रियत और पाकिस्तान के झंडे लहराए और गो इंडिया गो के नारे लगाए. इस सब के बाद लोगो ने केंद्र सरकार को आड़े हाथों लिया. इस मामले में कांग्रेस प्रवक्ता मनीष तिवारी ने कहा कि, "इस तरह झंडा लहराना सीधे तौर पर देश की एकता, अखंडता और संप्रभुता पर हमला है. क्या सरकार कश्मीर को पाकिस्तान के हाथों सौंपना चाहती है?"

वहीँ दिल्ली के डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया ने ट्विटर पर लिखा, 'कश्मीर में पाक अपना झंडा लहरा रहा है और केंद्र सरकार LG के जरिए दिल्ली में बाबुओं की ट्रांसफर-पोस्टिंग का अधिकार हड़पने में व्यस्त है.' उधर भाजपा ने भी इस मामले पर कड़ा एतराज जताया है.

पार्टी नेता हीना भट्ट ने मामले की निंदा करते हुए कहा कि, "पार्टी इस तरह की हरकतों के सख्त खिलाफ है और मिरावायज के खिलाफ कार्रवाई करने की मांग करेगी." वैसे इस रैली के तुरंत बाद हुर्रियत कॉन्फ्रेंस के उदारपंथी धड़े के अध्यक्ष मीरवाइज उमर फारूक को नजरबंद कर दिया है.

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -