सेबी ने लिया देशव्यापी निवेशक सर्वे का फैसला

नई दिल्ली : भारत देश में सभी व्यक्तियों और परिवारों की निवेश संबंधी आदतों को समझने के लिए पूंजी बाजार नियामक सेबी ने देशव्यापी निवेशक सर्वे का फैसला लिया है. और इस सर्वे के लिए नियामक के द्वारा नील्सन इंडिया प्राइवेट लिमिटेड को जिम्मेदारी दी गई है. नील्सन इंडिया प्राइवेट लिमिटेड को देश के विभिन्नं राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों से जानकारी जुटाना है. इस मामले को ध्यान में रखते हुए भारतीय प्रतिभूति एवं विनिमय बोर्ड (सेबी) ने यह भी कहा है कि सर्वे में किसी भी व्यक्ति की जानकारी को सार्वजनिक नहीं किया जायेगा.

गौरतलब है कि पहले भी बचत और निवेश को देखते हुए तीन सर्वे किये है. जानकारी में यह स्पष्ट करदे कि पिछला सर्वे एनसीएईआर के द्वारा जनवरी 2012 में जारी किया गया था. इस सर्वे में यह सामने आया था कि मार्केट में पैसा लगाने वाले 32 फीसदी परिवार apne पारिवारिक सदस्यों पर निर्भर होते है, जबकि 35 फीसदी निवेशकों ने केवल इस कारण निवेश नहीं किया कि उन्होंने मीडिया या अख़बारों में कुछ पढ़ा या देखा है. देश के केवल 67 फीसदी निवेशक ऐसे पाये गए है जो इस अनौपचारिक परामर्श प्रणाली पर विश्वास करते है जबकि केवल एक तिहाई निवेशक औपचारिक परामर्श प्रणाली को ध्यान में रखते है.

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -