'सोते रहे उद्धव ठाकरे, राहुल गाँधी ने नहीं होने दी CBI जाँच', पालघर में हुई साधुओं की हत्या को लेकर शिवसैनिक का खुलासा
'सोते रहे उद्धव ठाकरे, राहुल गाँधी ने नहीं होने दी CBI जाँच', पालघर में हुई साधुओं की हत्या को लेकर शिवसैनिक का खुलासा
Share:

मुंबई: महाराष्ट्र के सीएम एकनाथ शिंदे की अगुवाई वाली शिव सेना के एक नेता ने दावा किया है कि उद्धव ठाकरे ने पालघर में हुई हिन्दू साधुओं की भीड़ हत्या की CBI जाँच राहुल गाँधी के दबाव में नहीं करवाई थी। अप्रैल, 2020 में महाराष्ट्र के पालघर में 2 हिन्दू साधुओं तथा उनके ड्राइवर की भीड़ ने पीट-पीट कर हत्या कर दी थी। इस मामले को लेकर शिवसेना के प्रवक्ता किरण पावसकर ने कहा, “पालघर में हिन्दू साधुओं का क़त्ल तब हुआ था जब तत्कालीन सीएम उद्धव ठाकरे सो रहे थे तथा उनके गृह मंत्री अनिल देशमुख पैसों की उगाही करने में व्यस्त थे। इससे यह शक होता है कि साधुओं को महाराष्ट्र सरकार के इशारे पर मारा गया था। इस घटना के पश्चात् उद्धव ठाकरे ने बहुत ढीलाढाला सा जवाब दिया था तथा इसकी तहकीकात को लेकर कोई कदम नहीं उठाए। उनकी सरकार के इस मामले को CBI को ना सौंपने की वजह से तहकीकात में बहुत देरी हुई।”

पावसकर ने आरोप लगाया कि घटना के महीनों पश्चात् तक कोई ख़ास कार्रवाई नहीं हुई। उन्होंने कहा कि इसी वजह से जूना अखाड़ा को CBI जाँच की माँग को लेकर सर्वोच्च न्यायालय की शरण लेनी पड़ी, किन्तु तब भी उद्धव सरकार ने CBI जाँच का विरोध किया। उन्होंने आरोप लगाया कि CBI को यह मामला इसलिए नहीं सौंपा गया क्योंकि उद्धव सरकार कांग्रेस नेता राहुल गाँधी के दबाव में थी।”

गौरतलब है कि साधुओं के क़त्ल के चलते प्रदेश में उद्धव ठाकरे की अगुवाई वाली महा विकास अघाड़ी की सरकार थी। इसमें शिवसेना के साथ कॉन्ग्रेस तथा NCP भी सम्मिलित थी। साधुओं की हत्या के मामले ने देश खूब सुर्खियाँ बटोरी थीं। तत्पश्चात, CBI जाँच की माँग उठी थी। हालाँकि, उद्धव सरकार ने इस मामले की तहकीकात प्रदेश की CID को दे दी थी। जूना अखाड़ा ने इस मामले में सर्वोच्च न्यायालय का रुख किया था तथा CBI जाँच की माँग की थी जिसका उद्धव सरकार ने विरोध किया था। राज्य में सत्ता बदलने के पश्चात् बीजेपी-शिवसेना (बालासाहेब) की सरकार ने इस मामले की CBI जाँच को लेकर सर्वोच्च न्यायालय में अर्जी डाली थी तथा इसके आदेश दिए थे। शिंदे सरकार ने इसको लेकर सर्वोच्च न्यायालय में याचिका डाली थी।

बंद मकान में मिली दादा, बेटे और पोते की लाश, हत्या या आत्महत्या ? गुत्थी सुलझाने में जुटी पुलिस

राजस्थान के सीकर में भीषण सड़क हादसा, 7 लोगों की जलकर दुखद मौत

दिल्ली शराब घोटाले में के कविता की मुश्किलें बढ़ीं, कोर्ट ने 23 अप्रैल तक हिरासत में भेजा

रिलेटेड टॉपिक्स
- Sponsored Advert -
Most Popular
मध्य प्रदेश जनसम्पर्क न्यूज़ फीड  

हिंदी न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_News.xml  

इंग्लिश न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_EngNews.xml

फोटो -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_Photo.xml

- Sponsored Advert -