रोहित की मां और भाई ने स्मृति ईरानी के संसद में दिये भाषण को झूठा करार दिया

Feb 27 2016 08:21 AM
रोहित की मां और भाई ने स्मृति ईरानी के संसद में दिये भाषण को झूठा करार दिया

नई दिल्लीः हैदराबाद विश्वविद्यालय के छात्रावास में खुदकुशी करने वाले दलित शोधार्थी रोहित वेमुला के मामले में सांसद में हड़कप उस वक्त मच गया जब गुस्से में आकर केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री स्मृति ईरानी ने विपक्ष पार्टी पर जमकर हमला बोला। और कुछ बाते गुस्से में आकर झूठ भी बोल दी।

संसद में स्मृति ईरानी का बयान
संसद में ईरानी ने बुधवार को रोहित की खुदकुशी के मुद्दे को लेकर विपक्ष पर जमकर हमला बोलते हुई कहा था, कि विपक्ष इस खुदकुशी मामले पर राजनीति कर रहा है। इसके अलावा ईरानी ने कहा की रोहित के खिलाफ कार्रवाई करने वाली समिति में एक दलित प्रतिनिधि भी था। और रोहित के फांसी लगाने के बाद चिकित्सकों को ने उस दलित प्रतिनिधि को उसके पास भी नही जाने दिया था I

रोहित के दोस्त ने किया खुलासा
रोहित का दोस्त प्रशांत भी उसके साथ विश्वविद्यालय में पढता था। हालही में उसने भी ईरानी के नकारात्मक पक्ष से पर्दा उठा दिया है। प्रशांत ने बताया कि हैदाराबाद विश्वविद्यालय की कार्यकारी परिषद की बैठक के ब्यौरे का हवाला दिया और दावा किया कि, रोहित के खिलाफ कार्रवाई मानव संसाधन विकास मंत्रालय की ओर से किए गए संवाद के कारण हुई। प्रशांत ने ईरानी से सवाल किया कि आप ने अपने भाषण में 18 दिसंबर को रोहित की ओर से कुलपति अप्पा राव को लिखे गए पत्र का उल्लेख क्यों नही किया। जिसमे लिखा था कि विश्वविद्यालय दलित छात्रों को नही चाहता तो उन्हे रस्सी या सोडियम एजाइड दे दे। प्रशांत ने कहा कि आप इस पत्र को क्यों छिपा रही हैं। उस पत्र को सामने लाये।

रोहित की मां का बयान
रोेहित की मां रधिका ने संवाददाताओं से बताया कि केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी बिल्कुल झूठ बोल रही है। जो भी उन्होंने संसद के भीतर भाषण दिया है वह पूर्ण रूप से झूठ है। साथ में रोहित की मां राधिका ने कहा कि स्मृति ईरानी यह 'सीरयिल नही यह रियल लाइफ हैं' यहा तथ्यों को सामने लाया जाता है। तोड़-मरोड़कर पेश नही किया जाता है। और कहा कि ईरानी के खिलाफ कोई कार्रवाई क्यों नही की जा रही है। 

रोहित की मां ने कहा कि 'भाजपा मिट्टी' में मिल जाएगी। यदि 'प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी' ने ईरानी और बंडारू के खिलाफ कोई कार्रावाई नही की। साथ में कहा कि रोहित की मौत के लिए जिम्मेदार दूसरे लोगों के लिए उम्रकैद की सजा भी पर्याप्त नही है। उन्हे तो इससे बढ़कर भी सजा दी जायें।

रोहित के भाई का बयान
रोहित के भाई राजा ने भी ईरानी के संसद में दिए गए भाषण को झूठा करार करते हुए कहा कि मैं 17 जनवरी को विश्वविद्यालय परिसर में 8:30 बजें पहुंच गया था| और मैने देखा कि पुलिस और चिकित्सक रोहित के शव के पास खड़े थें, जबिक ईरानी ने अपने भाषण में कहा था कि कार्रवाई करने वाली समिति में एक दलित प्रतिनिधि भी था। जिसकेा चिकित्सकों ने उसके पास जाने नही दिया था।