श्रीलंका में बढ़ रही हिंसा, स्पीकर की चेतावनी- हल नहीं निकला तो बहेगा सड़कों पर खून

कोलंबो. भारत के पड़ोसी देश श्रीलंका में इस वक्त गंभीर हिंसा की स्थिति बनती जा रही है. इस देश की राजनीति में हाल ही में एक बड़ा बदलाव हुआ है जब श्रीलंका के राष्ट्रपति ने यहाँ के प्रधानमंत्री रानिल विक्रमसिंघे को उनके पद से हटा कर उनकी जगह पर पूर्व राष्ट्रपति महिंदा राजपक्षे को पीएम पद के लिए नियुक्त किया था. राष्ट्रपति के इस फैसले के बाद श्रीलंका में अचानक से बड़ा विरोध प्रदर्शन शुरू हो गया था और इसने जल्द ही हिंसा का रूप ले लिया. 

जापान की एक और राजकुमारी हुई शाही परिवार से बाहर, किया आम नागरिक से विवाह

अब इस मामले में श्रीलंकाई संसद के अध्यक्ष (स्पीकर) कारू जयसूर्या ने इस मामले में एक ऐसी चेतावनी दे दी है जिसने इस देश के लिए पूरी दुनिया की चिंता बढ़ा दी है. दरअसल इस स्पीकर ने हाल ही में अपने एक बयान में कहा कि अगर जल्द ही इस समस्या का हल नहीं निकला गया गया तो श्रीलंका में भयंकर हिंसा भड़क जायेगी और सड़कों पर हर तरफ खून बहता हुआ दिखेगा. उन्होंने अपने इस बयान के पीछे की वजह बताते हुए कहा है कि राष्ट्रपति के इस निर्णय से देश की जनता में बेहद आक्रोश है और कई लोग इस मसले को सड़कों पर सुलझाना चाहते है.

पाकिस्तान: पुल से गुजरते वक्त सिंधु नदी में गिरी मिनी बस

उल्लेखनीय है कि श्रीलंकाई सरकार में अचानक से हुए इस बदलाव को लेकर इस देश में कल भी एक भीषण हिंसा भड़की थी जिसने बहुत कम समय में खुनी रूप ले लिया था. इस हिंसा में कल पेट्रोलियम मंत्री अर्जुन राणातुंगा के अंगरक्षकों ने उनके घर के बाहर प्रदर्शन कर रहे प्रधानमंत्री महिंदा राजपक्षे के समर्थकों पर गोलीबारी कर दी थी जिससे एक व्यक्ति की मौत हो गई थी और कई लोग गंभीर रूप से घायल हो गए थे

ख़बरें और भी  

'पीहू' शामिल हो सकती है गिनीज़ बुक ऑफ़ वर्ल्ड रिकॉर्ड में

पिट्सबर्ग गोलीकांड: राष्ट्रपति ट्रम्प बोले- मीडिया ही है लोगों का असली दुश्मन

गणतंत्र दिवस परेड में शामिल नहीं होंगे ट्रंप, व्हाइट हाउस ने की आधिकारिक घोषणा

जहरीली हवा ने छीनी एक लाख बच्चों की जान : WHO

अमेरिका ने विकसित की नई टेक्नोलॉजी, बिना ड्राइवर चलेगी कार लाल बत्ती से मिलेगा छुटकारा

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -