रिपोर्ट: 36 फीसदी छात्र नहीं जानते क्या हैं देश की राजधानी?

देश की शिक्षा का हाल बताने वाली गैर सरकारी संस्था (NGO) ने देश की प्राथमिक और माध्यमिक स्तर की शिक्षा की वार्षिक रिपोर्ट जारी की हैं. जिसमे कई चौंकाने वाली जानकारी सामने आई हैं. आपको बता दे कि, यह संस्था वर्ष 2005 से लगातार एन्युअल स्टेटस ऑफ एजुकेशन रिपोर्ट (असर) जारी करती आ रही है. रिपोर्ट में बच्चों की बुनियादी पढ़ाई-लिखाई की क्षमता, बच्चों के स्कूल में नामांकन और बेसिक गणित करने की क्षमता के बारे में बताया जाता है.

हाल ही में जारी की गई इस रिपोर्ट में 11 से 14 साल के बच्चों की बात की गई हैं. रिपोर्ट इस उम्र के बच्चों को ध्यान में रखकर तैयार की गई हैं. 7 साल पुर्व हुई साल 2011 की जनगणना के मुताबिक, इस उम्र सीमा के देश में करीब 10 करोड़ युवा हैं. संस्था द्वारा कुल 156 पृष्ठ की रिपोर्ट जारी की गई हैं. जिसमे कई अहम जानकारी मौजूद हैं. 

- रिपोर्ट के मुताबिक़, देश के 14 प्रतिशत युवा 14-18 आयु सीमा के अभी भी स्कूल-कॉलेज से वंचित हैं.

- देश में कुल 14 प्रतिशत युवा ऐसे हैं जो फिलहाल किसी भी क्लास में नहीं हैं.

- रिपोर्ट का सबसे चौंकाने वाला खुलासा ये भी सामने आया है कि 36 फीसदी छात्रों को देश की राजधानी ही पता नहीं हैं. 

- 14 वर्ष के केवल 5 फीसदी बच्चे ऐसे हैं, जो शिक्षा से अछूते रहते हैं. लेकिन 18 वर्ष की उम्र तक आते-आते यह आंकड़ा बढ़ कर 30 फीसदी हो जाता हैं.  

Cbse Exam: 28 लाख विधार्थी देंगे परीक्षा, 8 ट्रांसजेंडर छात्र भी शामिल

फैसला: देश की 15 फीसदी यूनिवर्सिटी में होगा अब ऑनलाइन कोर्स

MCI का आदेश: NEET से वंचित रह सकते हैं लाखों उम्मीदवार

जॉब और करियर से जुडी हर ख़बर न्यूज़ ट्रैक पर सिर्फ एक क्लिक में, पढिये कैसे करे जॉब पाने के लिए तैयारी और बहुत कुछ.

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -